श्रीनगर. त्योहारी सीजन को देखते हुए भारतीय सेना ने आतंकियों के खिलाफ अपना अभियान तेज कर दिया है. सूत्रों के अनुसार सेना ने दिवाली से पहले घाटी से आतंकियों के सफाये की रणनीति बनाई है. साथ ही रणमीति पर अमल करते हुए सेना एवं सुरक्षा बलों ने आतंकी सफाई अभियान छेड़ा है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सेना सूत्रों के अनुसार घाटी में चौकसी बरती जा रही है. सेना ने पाकिस्तानी आतंकियों की भारत में घुसपैठ को नाकाम करने के लिए एलओसी पर सुरक्षा कड़ी कर दी है. वहीं दूसरी तरफ घाटी में छुपे बैठे आतंकवादियों की धड़पकड़ और उनके खात्मे का गुप्त अभियान सेना ने शुरू कर दिया है. सेना का लक्ष्य दीवाली तक घाटी में छुपे बैठे आतंकियों का सफाया है
 
खुफिया रिपोर्ट्स के अनुसार बताया जा रहा है कि कश्मीर में 200 से 250 आतंकी छुपे हुए हैं. हालांकि सेना के सूत्र इससे सहमत नहीं हैं. सेना के अनुसार पिछले सालों में सैकड़ों आतंकी मारे गए हैं. जिससे उनकी संख्या कम हुई है. हालांकि आतंकी कुछ स्थानीय युवाओं की भर्ती कर लेते हैं जिससे बौखलाये आतंकी सेना और सुरक्षाबलों के कैंपों पर हमला कर रहे हैं. 
 
आतंकियों के सफाये के लिए सेना स्थानीय समर्थन जुटाने में लगी है और वो इसके लिए स्थानीय लोगों से संपर्क बढ़ा रही है. सेना के इस कदम का असर भी देखने को मिल रहा है. अब धीरे-धीरे आतंकियों को स्थानीय लोगों का समर्थन मिलना कम हो रहा है. इसके लिए स्थानीय पुलिस और स्थानीय समाज के विशिष्ट लोगों की मदद ली जा रही है.