नई दिल्ली.  प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ दिन भर सोशल मीडिया में हमला करने वाले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  पर सुप्रीम कोर्ट ने डेंगू और चिकुनगुनिया के मामले में उनकी ‘चुप्पी’ पर हैरानी जाहिर की है.
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
दरअसल कोर्ट ने इस मामले में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, उपराज्यपाल नजीब जंग और स्वास्थ्य मंत्री को बैठक कर इस पर कोई ठोस फैसला लेने के लिए कहा था.
लेकिन आज जब सुनवाई के दौरान बैठक का ब्यौरा कोर्ट के सामने रखा गया तो उसमें केजरीवाल और स्वास्थ्य मंत्री ने क्या बोला, इसका कोई जिक्र नहीं था. इस पर कोर्ट ने पूछा कि इस बैठक में क्या मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री चुुप्पी साधे हुए थे. 
कोर्ट ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि आखिर बैठक में कोई ठोस निर्णय क्यों नहीं लिया गया है इसके साथ ही आज ही शाम फिर से सबको बैठक कर दिल्ली में डेंगू और चिकुनगुनिया के बढ़ते मामले की रोकथाम के लिए क्या कदम उठाए जाएं,  इस पर कोई निर्णय लेने के लिए कहा. 
नसीहत भी दी कोर्ट ने
सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार और दिल्ली नगर​ निगम को चिकनगुनिया और डेंगू की रोकथाम के लिए कड़े कदम उठाने के लिए कहा ताकि भविष्य में एेसे हालात दोबारा ना हों. हम साथ ही उम्मीद जताई कि बैठक में दिल्ली के हित के लिए सोचा जाएगा और सब आपस में सहयोग और मिलजुलकर इन बीमारियों का हल निकालेंगे. अगली सुनवाई 17 अक्टूबर को होनी है. 
बढ़ता जा रहा है आंकड़ा
बता दें कि दिल्ली में बड़ी संख्या में लोग डेंगू और चिकनगुनिया से पीड़ित हैं. इनके लगातार नए मामले सामने आ रहे हैं. एमसीडी के आंकड़ों के अनुसार दिल्ली में डेंगू के 441 नए मामले सामने आने के बाद कुल आंकड़ा 2133 पर पहुंच गया है. वहीं, चिकनगुनिया के 1598 मामले सामने आए हैं.