नई दिल्ली. पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक करने के बाद भारत को अब रूस का समर्थन मिल गया है. भारत में रूस राजदूत अलेक्जेंडर एम. कदाकिन ने कहा है कि रूस सर्जिकल स्ट्राइक का स्वागत करता है. उन्होंने कहा कि हर देश को अपनी रक्षा करने का अधिकार है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एक टीवी चैनल में कदाकिन ने कहा कि रूस सीमा पार से फैलाए जा रहे आतंकवाद के खिलाफ की लड़ाई में हमेशा भारत के साथ है. उन्होंने कहा कि जब आतंकी सैन्य ठिकानों और नागरिकों पर हमला करते हैं तो मानवाधिकारों का हनन होता है. पाकिस्तान को सीमा पार आतंकवाद को रोकना जरूरी है.  कदाकिन ने कहा, ‘हम सर्जिकल स्ट्राइक का स्वागत करते हैं, हर देश को अपनी सुरक्षा करने का अधिकार है.
 
 
पाकिस्तान और रूस के बीच चल रहे संयुक्त युद्धाभ्यास पर बात करते हुए रूस के राजदूत ने कहा कि इस अभ्यास से भारत को चिंतित होने की जरूरत नहीं है, ये अभ्यास पीओके, गिलगिट या बलूचिस्तान जैसे संवेदनशील इलाकों पर नहीं हो रहा है.
 
 
बता दें कि उरी हमले के बाद भारत ने पाक अधिकृत कश्मीर में 3 किलोमीटर अंदर तक जाकर 38 आंतकियों को मार गिराया था, जिसके बाद से ही दोनों देशों के बीज तनाव चरम पर पहुंच गया है.