नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को दो दिवसीय दौरे पर बांग्लादेश पहुंच गए हैं. इस ऐतिहासिक दौरे पर मोदी बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना के साथ वार्ता करेंगे और दो सीमापार बस सेवाओं को हरी झंडी दिखाएंगे. विदेश सचवि एस. जयशंकर ने मीडिया को बताया कि पीएम मोदी की 36 घंटे की ढाका यात्रा के दौरान भूमि सीमा समझौता आकर्षण का मुख्य केंद्र रहेगा.

Thank you PM Sheikh Hasina for the warm welcome. I look forward to a very good visit that will strengthen ties between India & Bangladesh.

— Narendra Modi (@narendramodi) June 6, 2015

उन्होंने कहा कि भारत फिलहाल बांग्लादेश को 500 मेगावाट बिजली देता है. यह जल्द ही अपनी बिजली आपूर्ति को बढ़ाएगा और इस बार पूर्वी बांग्लादेश को बिजली देगा. उन्होंने कहा कि इस दौरान विभिन्न समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे जिसके बाद से बांग्लादेश के टीवी कार्यक्रम भारत में भी देखे जा सकेंगे. 

यात्रा के कार्यक्रम का ब्योरा देते हुए उन्होंने कहा कि मोदी देर सुबह ढाका पहुंचेंगे, जिसके बाद उनका औपचारिक स्वागत किया जाएगा. इसके बाद वह राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाएंगे और वहां से देश के संस्थापक शेख मुजीबुर रहमान के बंगबंधु स्मृति संग्रहालय जाएंगे. बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना और ममता बनर्जी के साथ दोपहर के भोजन के बाद मोदी दो सीमापार बस सेवाओं, कोलकाता-ढाका-अगरतला बस सेवा और ढाका-गुवाहाटी-शिलांग बस सेवा को हरी झंडी दिखाएंगे.

इसके बाद मोदी और हसीना भूमि की अदला-बदली के क्रियान्वयन के लिए भूमि सीमा समझौते से संबंधित दस्तावेजों और नियमों के आदान प्रदान के समारोह में हिस्सा लेंगे. दोनों नेताओं के बीच इसके बाद द्विपक्षीय वार्ता होगी. इस वार्ता में कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर होंगे और दोनों देश कई परियोजनाओं की सांकेतिक नींव रखेंगे. इसके बाद मोदी, शेख हसीना द्वारा आयोजित एक रात्रि भोज में शामिल होंगे.

इसके बाद अगले दिन मोदी श्रीश्री ढाकेश्वरी मंदिर, रामकृष्ण मिशन और ढाका में भारतीय उच्चायुक्त के नए दूतावास परिसर का दौरा करेंगे. वह बांग्लादेश के राष्ट्रपति अब्दुल हामिद के साथ दोपहर भोज पर मिलेंगे और उनसे बातचीत करेंगे. वह बांग्लादेश के वामपंथी दलों के नेताओं और उद्योगपतियों से भी मुलाकात करेंगे. स्वदेश रवाना होने से पहले मोदी बंगबंधु स्टेडियम में बांग्लादेश के विभिन्न समुदाय के लोगों को संबोधित करेंगे. (IANS)