वाशिंगटन. भारत को बार-बार परमाणु हमले की धमकी देने वाले पाकिस्तान को अमेरिका सख्त हिदायत दी है. अमेरिकी अधिकारी की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि पाकिस्तान के रक्षा मंत्री की ओर से 15 दिन के अंदर  दो बार परमाणु हमले की धमकी देना “गैर-जिम्मेदराना और “चिंता” का विषय है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अमरिकी अधिकारी ने कहा ‘ यह बहुत ही चिंता और गंभीर मसला  है’.  उरी हमले के बाद और भारतीय सेना की ओर से किए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान के रक्षा मंत्री आसिफ ख्वाजा भारत पर परमाणु हमले की धमकी दे चुके हैं.
 
वहीं पाकिस्तान की ओर से आ रहे ऐसे बयानों के बाद से पूरी दुनिया में इस बात की चिंता बढ़ गई है कि क्या पाकिस्तान के परमाणु हथियार सुरक्षित हाथों में हैं या नहीं. अमेरिका का भी अब इस बात की चिंता जा रहा है कि क्या पाकिस्तान के पास जो भी परमाणु बम या खतरनाक हथियार हैं वो कहीं आतंकियों के हाथ न लग जाएं.
 
अमेरिका के उच्चाधिकारी ने मीडिया से बातचीत में कहा “यह हमारे लिए चिंता का विषय है. हम इस पर नजर बनाए हुए हैं.’ वहीं इस बात पर भी जोर दिया है कि दोनों ( भारत और पाकिस्तान) को इस समय तनाव को कम करने की कोशिशें की जानी चाहिए. 
वहीं उरी हमले की कड़ी निंदा करते हुए अमेरिका के ही एक अधिकारी ने कहा कि सबको पता है कि इस हमले को अंजाम देने वाले लोग कहां से आए थे. 
 
गौरतलब है कि उरी हमले के बाद से पूरी दुनिया में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ कूटनीतिक स्तर पर भी अभियान चलाया है. जिसके नतीजा यह रहा है कि पाकिस्तान अलग-थलग पड़  गया है यहां तक कि इस्लामाबाद में होने वाला सार्क सम्मेलन भी रद्द कर दिया गया.