नई दिल्ली. उरी हमले में चूक के जिम्मेदार माने जा रहे सेना अधिकारियों पर कार्रवाई की बात से सेना ने इनकार किया है और कहा है कि उरी ब्रिगेड के कमांडर को नहीं हटाया गया है. इससे पहले खबरें आ रही थी कि ब्रिगेडियर के. सोमशेखर को संवेदनशील ब्रिगेड से हटा दिया गया है. उन्होंने बताया कि सेना की 28 माउंटेन डिवीजन के एक अधिकारी उरी ब्रिगेड के कमांडर के रूप में कार्यभार संभाल रहे हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पहले खबरें आ रही थी कि केंद्र सरकार ने उरी हमले में चूक को लेकर सख्त रुख अपनाते हुए उरी के ब्रिगेड कमांडर सोमा शंकर को हटा दिया है. जानकारी के अनुसार शंकर जांच पूरी होने तक इस पद से हटा दिए गए हैं.  उरी में सेना के कैंप पर आतंकी हमलों के बाद सरकार ने ये कार्रवाई की है.  इस हमले में 18 सैनिक मारे गए थे. सेना सूत्रों के अनुसार उरी आतंकी हमलों की जांच में रुकावट ना हो इसलिए ये कदम उठाया गया है. 
 
 
 
बता दें कि रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने उरी हमले में चूक की बात कबूल की थी. उन्होंने स्वीकार किया था कि जरूर कुछ गलती हुई है. रक्षा मंत्री पर्रिकर का यह बयान उरी हमले के चार दिन बाद आया था. 
 
 
18 सितंबर को उरी में सेना की छावनी पर हुए आतंकी हमले में 19 जवान शहीद हो गए थे. इस दौरान आर्मी ने चार आतंकियों को मार गिराया था. इस हमले का आरोप आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद पर लगा था. लेकिन पाकिस्तान ने इस बात को मानने ले इंकार कर दिया था. 
 
 
अब ब्रिगेड कमांडर ब्रिगेडियर सोमशेखर के स्थान पर कर्नल यशपाल की तैनाती हुई है.