नई दिल्ली. मोदी सरकार ने काला धन रखने वालों के खिलाफ कोई कदम उठाने से पहले उन्हें स्वेच्छा से अपने ब्लैक मनी की घोषणा करने का मौका दिया था. इस योजना का आज आखरी दिन था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दरअसल इनकमटैक्स विभाग ने इनकम टैक्स डिक्लयरेशन स्कीम के तहत लोगों को ब्लैक मनी का खुलासा करने का आखरी मौका दिया था. जिसका आखरी दिन आज यानि 30 सितम्बर था. इस स्कीम की शुरुआत केंद्र सरकार की ओर से इसी साल जून में की गयी थी. 
 
कल 3 बजे वित्तमंत्री अरुण जेटली इस सम्बन्ध में प्रेस कॉफ्रेंस कर योजना के तहत घोषित हुए काले धन की जानकारी देंगे. इसके अलावा उम्मीद है कि इस कॉन्फ्रेंस में इस बारे में भी जानकारी दी जा सकती है कि आगे सरकार काला धन रखने वालों के खिलाफ क्या कदम उठाएगी. 
 
बता दें कि मोदी सरकार ने इस स्कीम के तहत ब्लैकमनी डिस्‍क्‍लोज करने वालों को कई अहम रियायतें दी गयी थी. इसके तहत काला धन घोषित करने वालों को  इन्सटालमेंट में पेनल्टी और इंट्रेस्ट चुकाने का विकल्प दिया गया था. रिपोर्ट्स की माने तो आयकर विभाग ब्लैक मनी का खुलासा न करने वालों पर 1 अक्टूबर से कड़ी कार्यवाही करने की तैयारी कर रहा है.