नई दिल्ली. वायु सैनिकों ने हिंडन एयरबेस पर होने वाले वायुसेना दिवस समारोह की तैयारियां शुरू कर दी हैं. वायुसेना दिवस पर हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड के जरिए बनाए गए लड़ाकू विमान तेजस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी. वहीं इस दिन सुखोई, मिराज, और मिग भी तेजस के साथ उड़ान भरने को तैयार हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
देसी तकनीक से बना लाइट कॉम्बेट एयरक्राफ्ट तेजस पहली बार आठ अक्टूबर को वायुसेना दिवस पर अपना जलवा दिखाएगा. वायुसेना की 45वीं स्क्वॉड्रन फ्लाइंग डैगर्स पहली बार देश के सामने तेजस की शक्ति का प्रदर्शन करेगी. तेजस का बेस बंगलुरु में है, मगर स्क्वॉड्रन हिंडन आकर लगातार एयर-शो की तैयारियों में जुटी हुई है.
 
आपको बता दें कि दो तेजस विमानों को वायुसेना में शामिल करने के बाद से अभी तक इसका सार्वजनिक प्रदर्शन नहीं किया गया है. देश के अलावा विदेशी भी आठ अक्टूबर को एरोनॉटिक्स में भारत की ताकत का प्रदर्शन देखेंगे.