नई दिल्ली. विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को उरी हमले पर तलब किया है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने हमले में पाक का कनेक्शन होने के सबूत बासित को सौंपे हैं. इस बात की जानकारी खुद विकास स्वरूप ने ट्विटर पर दी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दो गाइड भी पकड़े गए
 
उन्होंने कहा कि उरी हमले का सीमापार से कनेक्शन होने के सबूत बासित को सौंप दिए गए हैं. इसके साथ ही यह भी बताया गया है कि गांव वालों ने घुसपैठ में मदद करने वाले दो गाइडों को पकड़ा था, जो अब पुलिस की हिरासत में हैं
 
स्वरूप ने बताया कि दोनों गाइडों का नाम यासिन खुर्शीद(19 साल) और फैज़ल हुसैन अवान(20 साल) है. दोनों ही पाक-अधिकृत कश्मीर के मुजफ्फराबाद के रहने वाले हैं.
 
एक आंतकी की पहचान हुई
 
स्वरूप ने बताया की उरी हमले में मारे गए आतंकियों में से एक की पहचान की जा चुकी है. आतंकी का नाम हाफिज अहमद है और मुजफ्फराबाद का रहने वाला था.
 
 

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर