Hindi national ruchika girotra, SPS rathore, Haryana, dgp. haryana dgp, accused of molestation http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/DGP%20SPS%20Rathore.jpg

हरियाणा के पूर्व डीजीपी छेड़छाड़ के दोषी करार पर नहीं जाएंगे जेल

हरियाणा के पूर्व डीजीपी छेड़छाड़ के दोषी करार पर नहीं जाएंगे जेल

    |
  • Updated
  • :
  • Friday, September 23, 2016 - 11:11
ruchika girotra, SPS rathore, Haryana, dgp. haryana dgp, accused of molestation

Former DGP convicted in Ruchika Girotra case

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
हरियाणा के पूर्व डीजीपी छेड़छाड़ के दोषी करार पर नहीं जाएंगे जेलFormer DGP convicted in Ruchika Girotra caseFriday, September 23, 2016 - 11:11+05:30

नई दिल्ली. रुचिका गिरहोत्रा ​​केस में हरियाणा के पूर्व डीजीपी शंभू प्रताप सिंह राठौड़ (एसपीएस राठौड़) को सुप्रीम कोर्ट ने दोषी माना. साथ ही जितने दिन वो जेल में रहा है उसको भी कोर्ट ने काफी माना है. इसलिए राठौड़ को अब जेल नहीं जाना होगा.

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर

पूर्व डीजीपी राठौड़ ने 5 महीने 18 दिन जेल की सजा काटी है. एसपीएस राठौड़ को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत देते हुए उसकी इस सजा अवधि को काफी माना. बता दें कि रुचिका गिरहोत्रा केस 22  दिसम्बर 2009 की घटना है.

19 साल बाद आया फैसला 

घटना के 19  साल के बाद निचली अदालत ने राठौड़ को आईपीसी धारा 354 (छेड़छाड़) का दोषी करार देते हुए छह महीने की कैद और 1000  रुपए जुर्माना की सजा सुनाई थी. इस सजा को हाईकोर्ट ने बढाकर 18  महीने कर दिया था. राठौड़ ने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी. 11 नवम्बर 2010  को सुप्रीम कोर्ट ने राठौड़ को सशर्त जमानत दे दी थी.

1990 में तत्कालीन आईजी एस पी एस राठौड़ पर 14  वर्षीय रुचिका गिरहोत्रा से छेड़छाड़ का आरोप लगाया गया था. 1993  में रुचिका ने खुदकुशी कर ली थी. इसी के तहत राठौड़ के खिलाफ मामला दर्ज हुआ और सरकार ने सीबीआई को जांच सौंप दी थी.

First Published | Friday, September 23, 2016 - 11:11
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.