नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपना 66वां जन्मदिन मना रहे हैं. इस खास मौके पर उन्होंने दिन की शुरूआत गांधीनगर में मां हीरा बा का आशीर्वाद लेकर किया. इसके बाद पीएम नवसारी में 11 हजार दिव्यांगों के साथ जन्मदिन मनाएंगे. आज प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के 66वें जन्मदिन पर हम आपको मोदी सरकार की 10 उपलब्धियों से रु-ब-रू कराएंगे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
26 मई 2014 को नरेंद्र मोदी ने भारत के 14वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली. शपथ के साथ ही उनके नाम एक उपलब्धि जु़ड़ गई कि वे भारत के पहले ऐसे प्रधानमंत्री बने जिनका जन्म आजादी के बाद हुआ. शपथ के बाद से ही मोदी अपने ‘अंत्योदय’ यानि अंतिम व्यक्ति तक सेवा पहुंचाने के सिद्धांत के साथ अपने लक्ष्य को पूरा करने में जुट गए. 
 
1. MTCR ग्रुप में भारत की एंट्री- मिसाइल टेक्नोलॉजी कंट्रोल रिजीम (MTCR) में भारत का शामिल होना मोदी सरकार की सबसे बड़ी कामयाबी के तौर पर देखा गया. इसके बाद भारत ने मिसाइल ताकत में चीन और पाकिस्तान को पीछे छोड़ दिया.
 
2. वन रैंक वन पेंशन- कई सालों से लटके पड़े वन रैंक वन पेंशन को मोदी सरकार ने अमल में लिया. सैनिकों की मांग को पूरा करते हुए मोदी सरकार ने वन रैंक वन पेंशन को हरी झंडी दी जिसकी पहली किश्त 1 मार्च 2016 को जारी हुई थी.
 
3. विदेशी निवेश- मोदी सरकार के गठन के बाद 2015 में विदेशी निवेश मामले में भारत ने चीन समेत कई देशों को पछाड़ दिया. साल की पहली छमाही में भारत में चीन से 3 अरब डॉलर और अमेरिका से 4 अरब डॉलर का निवेश हुआ. इस निवेश ने यह साबित किया कि मोदी की विदेश यात्रा मौज के लिए नहीं हुई थी.
 
4. रिसर्च- मोदी सरकार ने रिसर्च को काफी गंभीरता से लिया. इसके तहत कई कार्यक्रम लॉन्च किए गए. इसकी सबसे बड़ी उपलब्धि लेजर इंटरफेरोमीटर ग्रैविटेशन वेव ऑब्जर्वेटरी है जो कि भारत का पहला ग्रैविटेशन वेव ऑब्जर्वेटरी है.
 
5. यमन से भारतीयों का एयरलिफ्ट- गृह युद्ध के बाद यमन में फंसे 168 भारतीयों को भारत लाना मोदी सरकार की एक बड़ी कामयाबी कही गई. विदेश मंत्रालय ने बिना देर किए विदेश राज्य मंत्री वीके सिंह को यमन भेजा जिसके बाद वे 168 भारतीयों को लेकर भारत वापस आए.
 
6. रीयल एस्टेट बिल- निजी बिल्डरों से फ्लैट खरीद रहे लोगों को राहत देते हुए मोदी सरकार ने रीयल एस्टेट बिल को कानून मान्यता दी. इससे उन करोड़ों लोगों ने चैन की सांस ली जो निजी बिल्डरों फ्लैट खरीदते हैं और उसके बाद परेशान होते हैं.
 
7. एलपीजी सब्सिडी- मोदी सरकार ने सत्ता आने के साथ ही उन लोगों से एलपीजी सब्सिडी छोड़ने की गुजारिश की जो महंगी रसोई गैस खरीदने में सक्षम हैं. इसके पीछे सरकार का मत साफ था कि इससे गरीबों को गैस मिल सकेगा. इस पहल पर करीब 1 करोड़ लोगों ने सब्सिडी छोड़ी जो कि मोदी सरकार की ही एक कामयाबी है.
 
8. चाहबार समझौता- मोदी सरकार के कार्यकाल में मई 2016 में चाहबार समझौता हुआ, जिससे भारत-ईरान ने रिश्तों की एक नई मिसाल पेश की. यह समझौता भारत के लिए काफी अहम था क्योंकि अब भारत-अफगानिस्तान के रिश्तों के लिए पाकिस्तान पर निर्भर नहीं होना पड़ेगा.
 
9. आर्थिक कामयाबी- मोदी सरकार की भले ही महंगाई के लिए आलोचना हुई लेकिन मोदी सरकार आर्थिक मोर्चे पर कामयाब रही. मुद्रास्फीति ने यूपीए-2 की सरकार गिराई थी, वहीं मोदी सरकार में जीडीपी की वृद्धि दर 7.5 फीसदी पर बरकरार है.
 
10. अमेरिका से रिश्ते- 2014 में बहुमत के साथ मोदी सरकार के गठन के बाद अमेरिका और भारत के रिश्तों में काफी बदलाव हुए या दूसरे शब्दों में कहें तो रिश्ते पहले से मजबूत हुए. सबसे पहले दोनों देशों ने लॉजिस्टिक्स एक्सचेंज एंड मेमोरैंडम समझौते पर हस्ताक्षर किया. सबसे बड़ी बात यह कि अमेरिका यह समझौता अपने सैन्य सहयोगी देशों से ही करता है.