नई दिल्ली. मैगी नूडल्स में लेड की मात्र सीमा से ज्यादा पाए जाने एक बाद दिल्ली में भी इसपर प्रतिबंध का खतरा मंडरा रहा है.  खराब गुणवत्ता को लेकर खाद्य सुरक्षा विभाग ने इसकी बिक्री पर रोक लगा दिया है. जिसके बाद सभी केंद्रीय भंडारों पर मैगी नूडल्स की बिक्री पर रोक लगा दिया है. इसके अलावा बिग बाजार ने भी अपने सभी आउटलेट्स पर फिलहाल मैगी नहीं बेचने का फैसला किया है. इस बीच मैगी के अधिकारी दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री से मिलने पहुंचे हैं. आज दिल्ली में बैगी के बैन पर बड़ा फैसला लिया जा सकता है.

दिल्ली में भी फेल हुआ मैगी नूडल्स
मंगलवार को दिल्ली में मैगी नूडल्स के जांच में फेल हो जाने के बाद आज दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री ने मैगी और नेस्ले के अधिकारियों को बैठक के लिए बुलाया. बैठक में दिल्ली में मैगी पर बैन को लेकर फैसला लिया जा सकता है. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से मिलने के लिए मैगी के अधिकारी उनके दफ्तर पहुंच गए हैं. आज दिल्ली सरकार इस मामले में कोई बड़ा फैसला ले सकती है.

हरियाणा में मैगी की जांच के आदेश
हरियाणा सरकार भी इसकी गुणवत्ता परखने के लिए प्रदेश भर से सैंपल उठाएगी. हरियाणा सरकार के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि हमने राज्य भर से मैगी नूडल्स के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जाने का आदेश दिया है. विज ने राज्य के स्वास्थ्य निदेशक से कहा है कि वे सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को बाजार से सैंपल लेने के आदेश दें. विज ने कहा कि हमारे राज्य में भी जांच के लिए अच्छे लैब हैं.  अगर जरूर हुई तो सैंपल को जांच के लिए बाहर भी भेजा जा सकता है. उन्होंने कहा कि अगर जांच रिपोर्ट में गड़बड़ी पाई गई तो बाजार से मैगी का पूरा स्टाक उठवा लिया जाएगा.

गुजरात और पश्चिम बंगाल में भी जांच
हरियाणा के बाद गुजरात और पश्चिम बंगाल में भी मैगी नूडल्स के जांच के आदेश दिये गए हैं. यहां भी दुकानों पर छापेमारी कर सैंपल जमा किये जा रहे हैं.