दिल्ली.  दिल्ली पुलिस का एक बहुत ही लापरवाही भरा मामला सामने आया है. लाजपत नगर इलाके में छेड़खानी की शिकार हुई एक हॉस्टल में रहने वाली एक लड़की जब शिकायत करने पहुंचे थाने पहुंची तो उसे जवाब दिया गया कि वह लड़की जात है उसे कोर्ट-कचहरी के चक्करों से बचना चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पीड़िता ने पोस्ट में बताया कि किस तरह वह अपने लाजपत नगर के पीजी में ही यौन उत्पीड़न का शिकार हुई. उसने बताया कि पीजी में ही एक शख्स शराब पीकर उसके पीछे आकर खड़ा हो गया. वह किचन में खाने के लिए आई थी. उसने पीछे मुड़कर जैसे ही देखा वहां से भाग निकली.
 
शराबी ने उसके कमरे तक उसका पीछा किया. लेकिन वह उसे पकड़ने में कामयाब नहीं हुआ. इतना ही नहीं नशे की हालत में वह दूसरे कमरे में भी घुसने की कोशिश की. किसी तरह उस पीड़िता ने खुद को बचाया. जब उसने पूरे मामले की जानकारी पीडी के मालिक को दी तो उन्होंने भी कोई मदद नहीं की.
 
लेकिन सबसे ज्यादा हैरान करने वाली बात यह थी कि जब पीड़िता खुद ही पुलिस के पास शिकायत करने पहुंची तो उसे जवाब मिला ‘ लड़की जात हो, क्या कोर्ट-कचहरी जाओगी.  आपको बता दें कि यह पूरी घटना सीसीटीवी फुटेज में भी कैंद है.
 
यह घटना एक बार फिर से बयां करती है कि दिल्ली में लड़कियां कहीं भी सुरक्षित नहीं हैं, पुलिस ऐसी है और सरकार कुछ नहीं कर पा रही.