मुंबई. बृहन्नमुंबई नगर निगम (BMC) के अधिकारियों पर रिश्वत लिए जाने के आरोप पर मचे बवाल के बाद मशहूर कॉमेडियन कपिल शर्मा ने अपनी सफाई देते हुए कहा ‘मैं किसी राजनीतिक पार्टी का हिस्सा नहीं हूं और न ही किसी पार्टी में जाना चाहता हूं’. उन्होंने कहा कि वह प्रधानमंत्री का सम्मान करते हैं और राज्य और केंद्र सरकार का भी सम्मान करता हैं.
 
क्या कहा कपिल शर्मा ने ?
कपिल शर्मा ने अपनी सफाई में कहा है कि मैंने केवल अपनी चिंताएं व्यक्त की थीं जिसने अनावश्यक विवाद का रूप ले लिया. मेरी जगह एंटरटेनमेंट के प्लेटफोर्म पर है न्यूज के प्लेटफोर्म पर नहीं. मैं किसी राजनीतिक पार्टी का हिस्सा नहीं हूं और न ही किसी पार्टी में जाना चाहता हूं. कपिल ने आगे कहा, ‘मैं प्रधानमंत्री का सम्मान करता हूं. राज्य और केंद्र सरकार का भी सम्मान करता हूं. मैं एक कानून का पालन करने वाल नागरिक हूं और कानून को मद्देनजर रखते हुए काम करता रहूंगा. ये मेरा भ्रष्टाचार के खिलाफ खाली गुस्सा था, जिसे मैंने ट्विटर पर व्यक्त किया था.’
 
BMC ने कहा है कि अंधेरी के जिस हाउस को लेकर रिश्वत देने की बात कपिल शर्मा ने कही है वहां उनका अवैध निर्माण हो रहा है. BMC ने आगे कहा है कि कपिल ने 15-16 फुट तक बंगले के पीछे की जगह पर कब्ज़ा किया और वहां मैंग्रोव को काटा. इसके अलावा ग्राउंड प्लस वन का स्ट्रक्चर होने के बावजूद एक फ्लोर गैरकानूनी तरीके से बढ़ाया. विभाग ने उन्हें स्टॉप वर्क का नोटिस भी दिया था. 
 
 BMC ने कहा है कि कपिल ने नोटिस न तो कोई जवाब दिया और न ही अवैध निर्माण बंद करवाया. जिसके बाद अगस्त महीने में विभाग ने हॉरिजॉन्टल और वर्टीकल एनक्रोचमेंट को डेमोलिश कर दिया. इसी से नाराज होकर कपिल ने घूस के आरोप लगाए गए हैं.
 
MNS ने कहा है कि कपिल शर्मा ने आगे कहा था कि MNS के एक कार्यक्रता ने उनकी अवैध निर्माण इमारत तो वैध दर्जा दिलाने के लिए उनसे रिश्वत मांगी थी. अगर कपिल शर्मा अपने उपर लगे आरोपों को साबित करने में नाकाम रहते हैं और माफी नहीं मांगते तो वो मुंबई में कभी शूटिंग नहीं कर पाएंगे. वहीं शिवसेना ने कपिल शर्मा पर गुंडा एक्ट लगाने की मांग की है. 
 
दरअसल कपिल शर्मा ने ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को टैग करके कहा, ‘ये हैं आपके अच्छे दिन ? मैं पिछले 5 सालों से 15 करोड़ रुपये टैक्स दे रहा हूं. फिर भी BMC वाले मेरे से 5 लाख की घूस मांग रहे हैं.’ कपिल शर्मा के मुताबिक उन्हें मुंबई में एक ऑफिस बनवाना है जिसके लिए BMC वाले 5 लाख की घूस मांग रहे हैं.