Hindi national Indian Rail, railway, rail, Rajdhani express, Shatabdi Express, Duranto Express, Fare, Rail Fare, Train Fare, Fare Hike, Dynamic Pricing, Flexi Fare, Ticket, Berth http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/rail%20fare.png
Home » National » राजधानी, शताब्दी और दुरंतो के किराए में कैसे होगी बढ़ोत्तरी, समझें- रेलवे का फ्लेक्सी फेयर सिस्टम

राजधानी, शताब्दी और दुरंतो के किराए में कैसे होगी बढ़ोत्तरी, समझें- रेलवे का फ्लेक्सी फेयर सिस्टम

राजधानी, शताब्दी और दुरंतो के किराए में कैसे होगी बढ़ोत्तरी, समझें- रेलवे का फ्लेक्सी फेयर सिस्टम

    |
  • Updated
  • :
  • Thursday, September 8, 2016 - 11:36

Railway Flexi Fare system to be Implemented on 9 september for Rajdhani Duronto and Shatabdi Express

राजधानी, शताब्दी और दुरंतो के किराए में कैसे होगी बढ़ोत्तरी, समझें- रेलवे का फ्लेक्सी फेयर सिस्टमRailway Flexi Fare system to be Implemented on 9 september for Rajdhani Duronto and Shatabdi ExpressThursday, September 8, 2016 - 11:36+05:30
नई दिल्ली.  9 सितंबर से अब राजधानी, शताब्दी और दुरंतो एक्सप्रेस में भी हवाई जहाज जैसा डायनैमिक किराया सिस्टम लागू जाएगा. मतलब जैसे-जैसे बर्थ बुक होते जाएंगे, वैसे-वैसे ट्रेन का किराया डेढ़ गुना तक बढ़ जाएगा. 

 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अभी तक प्रीमियम ट्रेन में ही घटते टिकट के साथ किराया बढ़ता था.  भारतीय रेलवे ने बुधवार को इसे फ्लेक्सी फेयर सिस्टम का नाम देते हुए ऐलान किया कि थर्ड और सेकेंड एसी वाले बर्थ का किराया ट्रेन में उस क्लास की कुल सीटों का 50 परसेंट सीट बुक होने के बाद डेढ़ गुना हो जाएगा लेकिन फर्स्ट एसी का किराया हर हाल में एक जैसा ही बना रहेगा.
 
राजधानी और दुरंतो एक्सप्रेस में थर्ड एसी और सेकेंड एसी का किराया 100 बर्थ में 10 बर्थ बुक हो जाने के बाद 10 परसेंट बढ़ जाएगा.



मतलब जब ट्रेन की 100 में 90 सीट बची होंगी तो किराया 10 परसेंट बढ़ेगा. जब 80 सीट बचेंगी तो किराया 20 परसेंट ऊपर हो जाएगा. जब 70 सीट बचेंगी तो किराया 30 परसेंट बढ़ जाएगा और जब 60 सीट बचेंगी तो किराया 40 परसेंट बढ़ जाएगा.
 
100 में 50 सीट बचने के बाद थर्ड और सेकेंड एसी का किराया 50 परसेंट बढ़ जाएगा और इसके बाद आखिरी बर्थ के बुक होने तक किराया 50 परसेंट ही ज्यादा रहेगा. राजधानी और दुरंतो की फर्स्ट एसी का किराया पहले बर्थ से लेकर आखिरी बर्थ के बुक होने तक एक जैसा ही रहेगा.
 
शताब्दी एक्सप्रेस में भी इसी तरह चेयरकार कोच की 100 सीट में 90 सीट बचने पर 10 परसेंट, 80 सीट बचने पर 20 परसेंट, 70 सीट बचने पर 30 परसेंट, 60 सीट बचने पर 40 परसेंट और 50 सीट या उससे कम सीट बचने पर 50 परसेंट ज्यादा किराया लगेगा. शताब्दी के भी एग्जीक्युटिव क्लास में किराया एक जैसा ही बना रहेगा.
 
 
इसके अलावा चार्ट बनने के वक्त भी अगर कोई सीट खाली है तो उसे करेंट बुकिंग के तहत बेचा जाएगा लेकिन उसका किराया उस क्लास के आखिरी टिकट के कटे किराए के बराबर होगा. ट्रेन के रिजर्वेशन चार्ट पर हर क्लास का आखिरी किराया यानी सबसे महंगा किराया भी दर्ज किया जाएगा ताकि लोग देख सकें कि किस क्लास की टिकट कितनी ऊंची बिकी.
 
आखिरी और काम की बात ये है कि जिन लोगों ने 9 सितंबर के बाद के सफर के लिए राजधानी, शताब्दी या दुरंतो का टिकट कटा लिया है उनको कोई अतिरिक्त पैसा नहीं देना होगा लेकिन अब जो भी लोग कटाएंगे, उनको फ्लेक्सी फेयर सिस्टम के तहत डेढ़ गुना तक किराया देने के लिए तैयार रहना होगा.
First Published | Wednesday, September 7, 2016 - 19:05
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.