नई दिल्ली. पाकिस्तान में हो रहे सार्क शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस्लामाबाद जाने वाली मीडिया में आई खबरों पर रोक लगाते हुए विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा है कि इस तरह के फैसले इतनी जल्दी नहीं किए जाते. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि मीडिया में यह खबर आ रही थी कि पीएम मोदी सार्क शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए नवंबर में पाकिस्तान जाएंगे. पाकिस्तान में भारतीय राजदूत गौतम बम्बावले ने कराची में एक कार्यक्रम के दौरान कहा था कि पीएम मोदी पाकिस्तान में होने वाले सार्क शिखर सम्मेलन में शामिल होने के लिए नवंबर में इस्लामाबाद जा सकते हैं.
 
 
बम्बावले के इस बयान के बाद से ही यह खबर तेजी से फैलने लगी थी कि मोदी इस्लामाबाद जाएंगे. कश्मीर मामले को भारत का आंतरिक मुद्दा बताते हुए बम्बावले ने कहा था कि पाकिस्तान और भारत में काफी समस्याएं हैं. दोनों देशों को अपनी समस्याओं का समाधान करना चाहिए. कश्मीर मुद्दे को छोड़कर व्यापार बढ़ाने पर ध्यान देना चाहिए. 
 
 
भारतीय राजदूत के इस बयान से खफा होकर पाकिस्तान ने उनका कार्यक्रम ही रद्द कर दिया. बता दें कि बम्बावले आज बिजनेस कम्युनिटी को संबोधित करने वाले थे.