नई दिल्ली. शांति बहाली के मकसद से कश्मीर गए सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के लौटने के बाद आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह पीएम नरेंद्र मोदी के साथ कश्मीर पर नई रणनीति को लेकर चर्चा की. गृह मंत्री ने पीएम मोदी को प्रतिनिधिमंडल की रिपोर्ट सौंपी. पीएम मोदी कल रात ही चीन में जी-20 सम्मेलन में शिरकत कर लौटे हैं. अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राजनाथ सिंह राज्य ने जमीनी हालात के सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के आकलन की जानकारी पीएम मोदी को दी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
माना जा रहा है कि मोदी और राजनाथ सिंह के बीच हिंसाग्रस्त कश्मीर में हालात सामान्य करने को लेकर नई रणनीति पर चर्चा हुई है. हालांकि अब तक ये साफ हो गया है कि केंद्र सरकार अलगाववादियों के आगे नरम नहीं पड़ने वाली, जो आठ जुलाई को हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकवादी बुरहान वानी की सुरक्षा बलों के हाथों मौत के बाद से घाटी में अशांति भड़काने में लगे हुए हैं. 
 
 
सूत्रों के अनुसार सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के सदस्य दो दिवसीय यात्रा के निष्कर्षों पर चर्चा के लिए यहां बैठक करेंगे और जम्मू कश्मीर के लिए भावी योजना बनाएंगे. बता दें कि श्रीनगर में हुर्रियत नेताओं से मिलने पहुंचे कुछ सांसदों को बैरंग लौटाये जाने से नाखुश राजनाथ सिंह ने कहा था कि उनका रवैया लोकतंत्र, मानवता या यहां तक कि ‘कश्मीरियत’ के भी खिलाफ है.