नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पार्टी नेताओं के विवादपूर्ण बयान पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा है कि अल्पसंख्यक समुदाय के लिए की गई कोई भी अपमानजनक टिप्पणी बर्दाश्त नहीं की जाएगी. उन्होंने कहा कि किसी भी समुदाय के प्रति भेदभाव सहन नहीं किया जाएगा. कानून की नज़र में सभी धर्म और समुदाय के लोग एक समान हैं. 

पीएम मोदी ने केंद्र सरकार के एक साल पूरे होने पर न्यूज एजेंसी यूएनआई को दिए इंटरव्यू में कहा कि संविधान सभी को धार्मिक स्वतंत्रता का अधिकार देता है. गौरतलब है कि पिछले एक साल के कार्यकाल के दौरान चर्चों पर हमलों और कुछ बीजेपी व संघ नेताओं के अल्पसंख्यक विरोधी बयानों से मोदी सरकार की काफी किरकिरी हुई थी.