नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल ​​का नाम जल्द ही बदलकर सिर्फ बंगाल हो सकता है. राज्य विधानसभा ने राज्य का नाम बदलने के लिए प्रस्ताव पारित कर दिया है. राज्य का नाम बदलकर बंगाली में ‘बांगला’, हिंदी में ‘बंगाल’ और अंग्रेजी में ‘बेंगाल (Bengal)’ किया जा सकता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज एक प्रेस कांफ्रेस में इसकी जानकारी दी. उन्होंने बताया कि राज्य विधानसभा ने पश्चिम बंगाल का नाम बदलने के लिए प्रस्ताव पास ​कर दिया है. अब राज्य यह प्रस्ताव केंद्र के पास भेज रहा है और इसे संसद में पास किए जाने की जरूरत है. 
 
बात दें कि भारत और पाकिस्तान के अलग होने के बाद बंगाल के पाकिस्तानी हिस्से को पूर्वी बंगाल और भारत के हिस्से को पश्चिम बंगाल नाम दिया गया था. लेकिन, पूर्वी बंगाल का नाम बाद में बांग्लादेश हो जाने के बाद पश्चिम बंगाल का नाम बदलने की बात भी समय-समय पर उठती रही है. इसके पीछे कारण दिया जाता है कि पूर्वी बंगाल के खत्म होने के बाद पश्चिम बंगाल के साथ पश्चिम जुड़ना जरूरी नहीं रह गया है.