Hindi national दादरी कांड, इलाहाबाद हाई कोर्ट, अखलाक, गोहत्या, बिसाहड़ा गांव, गाय, Dadri Case, Allahabad High Court, Akhlaq, Bisahdha village, cow http://www.inkhabar.com/sites/inkhabar.com/files/field/image/Akhlaq_3.jpg

दादरी: अखलाक के भाई को छोड़कर बाकी परिजनों को इलाहाबाद HC से राहत

दादरी: अखलाक के भाई को छोड़कर बाकी परिजनों को इलाहाबाद HC से राहत

| Updated: Friday, August 26, 2016 - 19:06
दादरी कांड, इलाहाबाद हाई कोर्ट, अखलाक, गोहत्या, बिसाहड़ा गांव, गाय, Dadri case, Allahabad High Court, Akhlaq, Bisahdha village, cow

Dadri Case Akhlaq brother did not get relief from Allahabad High Court

इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
दादरी: अखलाक के भाई को छोड़कर बाकी परिजनों को इलाहाबाद HC से राहतDadri Case Akhlaq brother did not get relief from Allahabad High CourtFriday, August 26, 2016 - 19:06+05:30

लखनऊ. दादरी कांड पर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने शुक्रवार को मृतक अखलाक के परिजनों के खिलाफ दर्ज गोहत्या मामले में उसके भाई जान मोहम्मद को छोड़कर अन्य छह सदस्यों की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है. बता दें गौतमबुद्ध नगर के बिसाहड़ा गांव में बीते साल सितंबर में अखलाक को हिंसक भीड़ ने कथित तौर पर बीफ खाने को लेकर मार डाला था.
 
'भाई कि गिरफ्तारी पर नहीं लगी रोक'
न्यायाधीश न्यायमूर्ति प्रभात चंद्र त्रिपाठी और न्यायमूर्ति रमेश सिन्हा की पीठ ने अखलाक के भाई जान मोहम्मद की गिरफ्तारी पर रोक नहीं लगाई है. जिन लोगों की गिरफ्तारी पर रोक लगी है, उनमें अखलाक की पत्नी इकरामान और मां असगरी शामिल हैं.
 
दादरी: अखलाक के परिवार पर गो-हत्या कानून के तहत दर्ज होगी FIR
 
'गला काटते हुए देखा था'
ग्रेटर नोएडा की एक अदालत ने 14 जुलाई को अखलाक के परिवार के सदस्यों के खिलाफ एक FIR दर्ज करने का आदेश दिया था. बिसाहड़ा गांव के एक निवासी की याचिका पर सुनवाई के बाद मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी विजय कुमार ने पुलिस से पूरे मामले की जांच करने को कहा था. याचिकाकर्ता का आरोप था कि अखलाक के परिवार ने गाय के एक बछड़े को मारा और अखलाक के भाई जान मोहम्मद को बछड़े का गला काटते हुए देखा गया.
 
अखलाक के परिवार को अब मिलेगा '45 लाख' का मुआवजा
 
गाय का या उसके बछड़े का था मीट
मथुरा की फॉरेंसिक लैब ने मीट की जो जांच रिपोर्ट दी है उसके मुताबिक अखलाक के घर से मिला मीट या तो किसी गाय का था या उसके बछड़े का. कोर्ट को यह रिपोर्ट अप्रैल में सौंपी गई थी जिसे कोर्ट ने सरकारी वकील की आपत्ति को दरकिनार करते हुए अखलाक हत्याकांड के आरोपियों को मुहैया कराने का आदेश दिया था. 
 
खुफिया रिपोर्ट में खुलासा, दंगा भड़काने के लिए की गई अखलाक की हत्या
 
क्या था मामला? 
बता दें कि दादरी के बिसाहड़ा गांव में 28 सितंबर 2015 की रात गोहत्या की खबर पर भीड़ ने अखलाक की हत्या कर दी थी. बाद में अखलाक के परिवार पर की शिकायत पर 19 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था. हालांकि पुलिस जांच में एक आरोपी को निर्दोष पाया था. मामले में कुल 18 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज है. 17 आरोपी जेल में है, जबकि एक नाबालिग को हाईकोर्ट से जमानत मिल चुकी है.

First Published | Friday, August 26, 2016 - 19:06
For Hindi News Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
Web Title: Dadri Case Akhlaq brother did not get relief from Allahabad High Court
(Latest News in Hindi from inKhabar)
Disclaimer: India News Channel Ka India Tv Se Koi Sambandh Nahi Hai

Add new comment

CAPTCHA
This question is for testing whether or not you are a human visitor and to prevent automated spam submissions.

फोटो गैलरी

  • कजाकिस्तान में भारतीय पीएम नरेंद्र मोदी से मिलते अफगानी राष्ट्रपति अशरफ़ ग़नी
  • उत्तराखंड के बद्रीनाथ मंदिर में राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी
  • मुंबई के केलु रोड स्टेशन पर एक ट्रेन में सवार अभिनेता विवेक ओबेरॉय
  • मुंबई में अभिनेत्री सनी लियोन "ज़ी सिने पुरस्कार 2017" के दौरान प्रदर्शन करते हुए
  • सूफी गायक ममता जोशी, पटना में एक कार्यक्रम के दौरान प्रदर्शन करते हुए
  • लखनऊ में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बधाई देते प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी
  • मुंबई में आयोजित दीनानाथ मंगेसकर स्मारक पुरस्कार समारोह में अभिनेता आमिर खान
  • चेन्नई बंदरगाह पर भारतीय तटरक्षक बल आईसीजीएस शनाक का स्वागत
  • आगरा में ताजमहल देखने पहुंचे आयरलैंड के क्रिकेटर
  • अरुणाचल प्रदेश में सेला दर्रे पर भारी बर्फबारी का एक दृश्य