नई दिल्ली. केंद्र सरकार जम्मू-कश्मीर के हालात सुधरने के लिए ज्यादा इंतजार नहीं करना चाहता है. सूत्रों के अनुसार केंद्र सरकार अब राज्य में राज्यपाल शासन लगाने पर विचार कर रही हैं. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह दो दिन के दौरे पर जम्मू-कश्मीर में हैं, और उनकी वापसी के बाद केंद्र सरकार इस बारे में फैसला करेगी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
माना जा रहा है कि केंद्र सरकार ने अपनी ओर से ऐसे 80 लोगों की सूची तैयार की है, जो राज्य में अशांति फैलाने और बच्चों-युवाओं को भड़काने में लगे हुए हैं. अब यह अपेक्षा है कि राज्य सरकार इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगी. ऐसा होने पर हालात क़ाबू में आने में ज़्यादा वक्त नहीं लगेगा.
 
सूत्रों के अनुसार केंद्र के सामने कई विकल्प हैं. इनमें एक विकल्प वहां राज्यपाल शासन लगाना भी हो सकता है. इसके अलावा राज्यपाल को बदलना भी एक विकल्प है, जिस पर विचार किया जा रहा है.