नई दिल्ली. बलूचिस्तान में आजादी समर्थक प्रदर्शनकारियों ने पाकिस्तान के खिलाफ जबर्दस्त प्रदर्शन किया. बलूचिस्तान में आजादी समर्थकों ने न केवल भारत का राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा लहराया बल्कि शहीद माने जाने वाले मरहूम नेता अकबर बुगती के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर भी लगाई साथ ही पाकिस्तान के झंडे को कुचलते हुए तस्वीर भी साझा की. 

 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बलूचिस्तान और गिलगित-बाल्टिस्तान पर PM मोदी के बयान के खिलाफ दिए बयान के खिलाफ पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की असेंबली में प्रस्ताव पास हुआ है. यह प्रस्ताव सर्वसम्मति से पास किया गिया है. प्रस्ताव में कहा गया है कि PM मोदी के बलूचिस्तान और गिलगित-बाल्टिस्तान पर दिए उनके बयानों की यह सदन कड़े शब्दों में निंदा करता है. पंजाब के कानून मंत्री राणा सनाउल्लाह ने मोदी के खिलाफ प्रस्ताव पेश किया.

 
 
PM मोदी का समर्थन करने के आरोप में पाकिस्तान ने बलूचिस्तान के तीन नेताओं के खिलाफ मामले दर्ज किया हैं. ये नेता बलूचिस्तान की आजादी की मांग कर रहे हैं. इनके नाम हैं ब्रहमदाग बुगती, हरबियार मार्री और बनुक करिमा बलोच. क्वेटा जिला पुलिस अधिकारी कुजदार मुहम्मद अशरफ ने यह जानकारी दी.
 
 
क्या कहा था PM मोदी ने
PM मोदी ने कश्मीर मामले पर आयोजित सर्वदलीय बैठक में पाकिस्तान को करारा संदेश देते हुए कहा कि PoK भी भारत के जम्मू-कश्मीर का हिस्सा है. PoK और बलूचिस्तान में वहां के सुरक्षाबलों द्वारा लोगों पर किए जा रहे अत्याचारों को दुनिया के सामने लाने की जरूरत है. 
 
 
चीन से परेशान बलूचिस्तानी
प्रर्दशनकारियों के विरोध की एक वजह पाकिस्तान के इस शहर पर चीन का बढ़ता प्रभाव भी है. स्थानीय लोगों का कहना है कि चीन और पाकिस्तान इस क्षेत्र में मौजूद संसाधनों का सिर्फ अपने फायदे के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं.