अहमदाबाद. लोकसभा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बेहद चर्चित ‘चाय पे चर्चा’ स्टॉल में से एक ‘इस्कॉन गंथिया टी शॉप’ को 5 अगस्त से बंद कर दिया गया है. अहमदाबाद में स्थित इस चाय की दुकान को उसके अवैध ढांचे के कारण बंद ​कर दिया गया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अहमदाबाद नगर निगम (एएमसी) संपत्ति विभाग के अनुसार इस चाय की दुकान का ढांचा अवैध तरीके से बना था और उसके कारण ट्रैफिक में काफी परेशानी पैदा हो रही थी. यहां आने वाले ग्राहक जहां-तहां अपने वाहन खड़े कर देते थे. यहां तक की पास में ही पार्किंग के लिए एक जगह भी दी गई थी. यह दुकान करणावती क्लब के ठीक सामने थी. 
 
कम से कम दो बार एएमसी टैक्स निरीक्षकों ने दुकान का दौरा करके इसके मालिक को बिल्डिंग प्लान और मालिकाना प्रमाण देने के लिए कहा था लेकिन दुकान का मालिक ऐसे कोई भी दस्तावेज पेश नहीं कर पाया. इस कारण दुकान को बंद करना पड़ा. इस चाय की दुकान में नरेंद्र मोदी की ईयरफोन लगाए और बड़ी स्क्रीन के जरिए लोगों से बातचीत करते हुए फोटो लगाई गई थीं.
 
फरवरी 2014 में लोकसभा चुनाव को देखते हुए, नरेंद्र मोदी की चुनाव अभियान टीम ‘सिटीजन फॉर अकाउंटेबल गवर्नेंस’ ने इस दुकान को ‘चाय पे चर्चा’ के लिए चुना था. ऐसी दुकानों पर नरेंद्र मोदी की जनता से बातचीत के प्रसारण के लिए सेटेलाइट, डीटीएच, इंटरनेट और मोबाइल तकनीक का उपयोग किया गया था. ‘चाय पे चर्चा’ के लिए पूरे देश में 300 शहरों में 1000 टी स्टॉल चुने गए थे. इसमें से केवल गुजरात के 22 शहरों में ही 61 दुकानें थीं.