नई दिल्ली. कश्मीर में तनावपूर्ण हालात को लेकर जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला के नेतृत्व में राज्य के विपक्षी नेताओं के एक डेलीगेशन ने प्रधानमंत्री मोदी से सोमवार को मुलाकात की.  पीएम मोदी के साथ बैठक के बाद उमर अब्दुल्ला ने बताया कि बैठक काफी अच्छे माहौल में हुई है. प्रधानमंत्री ने हमारे ज्ञापन को स्वीकार कर लिया है. अब्दुल्ला ने कहा कि पीएम ने बोला है कि कश्मीर मुद्दे पर राजनीति नहीं होनी चाहिए. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सूत्रों के अनुसार, कश्मीर में अशांति के बीच राज्य के विपक्षी दलों का एक शिष्टमंडल प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात कर रहा है. साथ ही कश्मीर संकट के ‘राजनीतिक समाधान’ के लिए सभी पक्षों के साथ बातचीत शुरू करने की जरूरत पर बल दे रहा है. बता दें कि राज्य में 8 जुलाई को हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी बुरहान वानी के सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड में मारे जाने के बाद से हिंसा का दौर जारी है.
 
शिष्टमंडल में माकपा विधायक मोहम्मद युसुफ तारिगामी, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीए मीर, नेशनल कांफ्रेंस के वरिष्ठ नेता और कुछ निर्दलीय विधायक शामिल हैं. विपक्षी दलों के सूत्रों ने बताया कि वे प्रधानमंत्री से आग्रह करेंगे कि वे राज्य सरकार को स्थिति से प्रशासनिक तौर पर निपटने से रोके क्योंकि इससे लोगों में, खासकर युवाओं में अभूतपूर्व अलगाव पैदा हो रहा है. बता दें कि इससे पहले एक शिष्टमंडल ने बीते दिनों राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात की थी.