नई दिल्ली. बलूचिस्तान के बलूच छात्र संगठन की अध्यक्ष करीमा बलूच ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपना भाई मानते हुए एक वीडियो मैसेज भेजा है. रक्षा बंधन की बधाई देते हुए उन्होंने पीएम से भावुक अपील की है. करीमा ने कहा है कि वो बलूचिस्तान के लापता भाइयों की तलाश करें और इस लड़ाई में उनका साथ दें. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
1.49 सेकंड का यह वीडियो सामाजिक कार्यकर्ता तारीक फतह के यू-ट्यूब चैनल पर पोस्ट किया गया है. ट्विटर पर अपने वीडियो मैसेज में करीमा बलूच कहती है, ‘रक्षाबंधन के दिन बलूचिस्तान की एक बहन भाई मानकर आपसे कुछ कहना चाहती है. बलूचिस्तान में कितने ही भाई लापता हैं. कई भाई पाक सेना के हाथों मारे गए हैं. बहनें आज भी लापता भाइयों की राह तक रही हैं. हम आपको ये कहना चाहते हैं कि आपको बलूचिस्तान की बहनें भाई मानती हैं. आप बलूच नरसंहार, युद्ध अपराध और मानवाधिकार हनन के खिलाफ अंतराष्ट्रीय मंचों पर बलूचों और बहनों की आवाज बनें.’ देखें वीडियो
करीमा बलूच आगे कहती हैं कि बलूचिस्तान की बहनें अपनी जंग खुद लड़ना चाहती हैं, लेकिन उनकी अपील है कि पीएम मोदी बस उनकी आवाज बन जाएं. करीमा बलूच ने इस दौरान गुजराती में लिखे एक संदेश को भी पढ़कर सुनाया. गौरतलब है कि बीते सोमवार को स्वतंत्रता दिवस पर अपने भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने पीओके, गिलगिट और बलूचिस्तान की स्थिति के बारे में बात की थी. इसके बाद कई बलूच नेताओं ने मोदी को शुक्रिया कहा था. मोदी के इस कदम को भारत की विदेश नीति में एक बड़े बदलाव के रूप में देखा जा रहा है.