नई दिल्ली. भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ी हुई तल्खी की असर दोनों देशों के राजनीतिक और कूटनीतिक रिश्तों पर भी पड़ता दिखाई दे रहा है. सरकारी सूत्रों के हवाले से खबरें आ रही है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली सार्क देशों के वित्त मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने पाकिस्तान नहीं जा रहे हैं. उनकी जगह आर्थिक मामलों के सचिव शक्तिकांत दास देश का प्रतिनिधित्व करेंगे.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि भारत में पाकिस्तान के हाई कमीश्नर अब्दुल बासित ने अपने देश की आजादी को कश्मीर की आजादी को समर्पित किया था. बासित के इस बयान के बाद दोनों देशों की तरफ से बयानबाजी का दौर शुरु हो गया था. जोकि पहले से ही खराब रिश्तों में और भी जहर घोल रहा है.