नई दिल्ली. पाकिस्तान के स्वतंत्रता दिवस पर दिल्ली में पाक उच्चायुक्त के कश्मीर पर दिए बयान पर देशभर से विरोध के स्वर सुनाई दे रहे हैं. विरोध की गूंज के बीच आरएसएस विचारक ने कुछ ऐसा कहा है, जो चौंकाने वाला है. बासित के जश्न ए आजादी को कश्मीर की आजादी के नाम करने वाले बयान पर संघ विचारक राकेश सिन्हा ने कड़ा ऐतराज जताया है. उन्होंने सीधे-सीधे भारत सरकार से अब्दुल बासित को पाकिस्तान भेजने की मांग की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राकेश सिन्हा ने कहा है कि अब्दुल बासित ने अपने दिए बयान से साबित कर दिया है कि वह राजदूत नहीं, वह जिहादियों के भारत में प्रतिनिधि हैं और ऐसे प्रतिनिधि को भारत की जमीन पर एक क्षण भी रहने का अधिकार नहीं है. भारत सरकार को बिना-विलंब उन्हें पाकिस्तान वापस भेज देना चाहिए. सिन्हा ने कहा कि  हम अगला स्वतंत्रता दिवस पाकिस्तान में तीन जगहों पर मनाएंगे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
राकेश सिन्हा ने कहा है कि बासित ने बयान दिया है वो अक्षम्य है. वह यहां बैठकर भारत के भीतर अलगाववादियों, आतंकियों और विघटनकारियों को प्रोत्साहन दे रहे हैं. यदि उन्हें वापस नहीं भेजा गया तो इसका साफ संदेश उन अलगाववादियों को जाएगा कि भारत सब चीजों को सहन करने के लिए तैयार है.