नई दिल्ली. कश्मीर की हालिया हिंसा के मुद्दे पर बातचीत करने के पाकिस्तान के प्रस्ताव पर भारत ने कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए इसे सिरे से खारिज कर दिया है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान को करारा जवाब दिया है. सुषमा ने कहा है कि आतंकी भेजने वालों से कोई बात नहीं होगी. हम इस बात पर सहमति नहीं दे सकते कि आतंकवाद के खिलाफ किसी तरह की कार्रवाई किए बिना इसके समर्थकों के साथ बाचीत जारी रहे. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सुषमा स्वराज कहा कि हमारे बीच (भारत-पाकिस्तान) बातचीच का मुख्य मुद्दा आतंकवाद का है. अब भारत पहले वाली गलतियों को नहीं दोहराएगा. पाकिस्तान को बातचित करनी है तो आतंकवाद को संरक्षण देना बंद करे और अपने यहां बैठे हुए आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी होगी.
 
उन्होंने कहा कि आतंकवाद का खतरा आज वैश्विक चिंता का विषय है. हम फिर पाकिस्तान से कहते हैं पहले अपने यहां से आतंकवाद खत्म करे फिर बातचीत करे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के विदेश मामलों के सलाहकार सरतात अजीज के उस बयान के संदर्भ में है जिसमें उन्होंने कहा था कि वह जम्मू-कश्मीर विवाद पर भारत को बातचित के लिए आमंत्रित करेंगे.