नई दिल्ली. पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित के बयान के बाद कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है. कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा है कि अब देखते हैं कि 56 इंच की छाती वाली सरकार बासित को वापस पाकिस्तान भेजती है या नहीं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एक दूत की तरफ से इस तरह का बयान आपत्तिजनक है. बता दें कि बासित ने पाकिस्तानी झंडा फहराने के बाद अपने संदेश में कहा था कि इस बार का जश्न-ए-आजादी कश्मीर की आजादी के नाम है.कश्मीरियों की कुर्बानी बेकार नहीं जाएगी.
 
 
क्या कहा सिंघवी ने 
पार्टी के प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि एक दूत की तरफ से इस तरह का बयान आपत्तिजनक है. अब देश की जनता 56 इंच वाली सरकार की तरफ देख रही है कि ऐसा बयान देने वाले उच्चायुक्त को अपने देश वापस भेजने के लिए वो क्या करती है. उन्होंने कहा कि बासित को पर्सन नॉन ग्राटा घोषित कर देना चाहिए.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
सीमोओं पर दी मिठाई
उधर सीमाओं पर तनाव के बावजूद भी पाकिस्तान आजादी दिवस के मोके पर भारतीय रेंजरों को मिठाई और फल देकर आपसी कड़वाहट को काम करने की कोशिश करता दिखाई दिया. दोनों देशों की सीमाओं पर तनाव के बावजूद भारत-पाकिस्तान के जवानों आपसी भाईचारा निभाते हुए एक साथ आजादी का जश्न मनाया. भारत के स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले 14 अगस्त को पाकिस्तान में जश्न-ए-आजादी के दिन के रूप में मनाया जाता है.