लखनऊ/हापुड. 42 साल पहले नर्स अरुणा शानबाग पर हमला करने का दोषी सोहनलाल बार्था वाल्मीकि का पता चल गया है. दोषी यूपी के हापुड़ जिल में पारपा गांव में रह रहा है. इससे पहले  अरुणा का हाल ही में कई साल कोमा में रहने के बाद निधन हो गया था. अरुणा का  गुनहगार सोहनलाल जेल से छूटने के बाद ही अपनी सुसराल में आकर बस गया था. सोहनलाल अपनी पत्नी विमला के साथ अपनी जिंदगी जी रहा है. वह इस समय एनटीपीसी दादरी में मजदूरी करता है. घटना के बारे में सवाल करने पर उसका कहना है कि वह सजा काट चुका है और उस पर अब कुछ नहीं कहना चाहता है