लखनऊ. बहुजन समाज पार्टी (BSP) छोड़ भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य पहली बार लखनऊ कार्यलय पहुंचे. अतिउत्साह में मौर्य के समर्थकों ने BJP दफ्तर के गेट पर भारी आतिशबाजी भी की.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
BJP दफ्तर में स्वामी प्रसाद मौर्य का स्वागत केशव प्रसाद मौर्य ने ‘जय श्री राम’ के जयकारे के साथ किया. मौर्य कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए BSP पर बरसे और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफों के पुल बांधे. 
 
 
मायवती पर बरसे मौर्य
मौर्य ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पहले भी दलितों के साथ उत्पीड़न हो रहा था, लेकिन मायावती ने मुझे और नसीमुद्दीन सिद्धीकी को घटनास्थल पर जाने से मना कर दिया था. उन्होंने जातिसूचक शब्द का इस्तेमाल करते हुए कहा था कि ये लोग जितने पीटे जाएंगे, लतियाए जाएंगे, उतने ही पक्के वोटर बनेंगे.
 
 
मौर्य ने कहा कि इसीलिए मैं मायावती को दूध की मक्खी की तरह बाहर कर बीजेपी में चला आया. मौर्य ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में पूरे भारत का विकास हो रहा है. मोदी बुद्ध और अशोक के सपनों को पूरा करने में लगे हुए हैं. हम उनका साथ देंगे.
 
 
‘भ्रष्टाचार की देवी हैं मायावती’
मौर्य ने कहा कि मायावती भ्रष्टाचार की देवी हैं. मायावती लाखों करोड़ों का चढ़ावा लेती है. विधानसभा लोकसभा में टिकटों की बोली लगाती है. भ्रष्टाचार की देवी पैसे के लालच और हवस में निरंकुश हो गई.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
उन्होंने कहा कि मायावती पैसे की हवस में बाबा साहेब के आंदोलन को बेच रही है. जिसने कांशीराम के नेतृत्व में स्वाभिमान में राजनीति सीखी हो वो दलितों का स्वाभिमान बेचने वालों के साथ नहीं रह सकते. मायावती दलित की देवी नहीं भ्रष्टाचार की देवी है.