नई दिल्ली. आज जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर राज्यसभा में चर्चा शुरू हुई. नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद ने इस मुद्दे पर पीएम मोदी की कड़ी आलोचना की. कांग्रेस ने संसद से बाहर कश्मीर पर बयान देने के लिए PM मोदी पर हमला बोला. कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मोदी क्यों लंबे समय तक इस मुद्दे पर चुप रहे. गुलाम नबी आजाद ने कहा कि मोदी हर मामले पर ट्वीट्स करते हैं, लेकिन कश्मीर पर खामोश क्यों रहे
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस दौरान हंगामा भी हुआ. केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने भी सरकार की ओर से अपनी बात रखी. जेटली ने कहा कि सदस्य मुद्दे को न भटकाएं. विरोध जताने के बाद आजाद ने कहा कि वे सरकार की भाषा नहीं बोल सकते हैं. 
 
अपने भाषण के दौरान कांग्रेस सांसद ने पीएम नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि जम्हूरियत, कश्मीरियत और इंसानियत की बात अटल जी के ही मुंह से अच्छी लगती थी. लेकिन, केंद्र सरकार को उस पर विश्वास नहीं है ऐसे में उनके मुंह से यह अच्छा नहीं लगता. उन्होंने यह भी कहा अकेले सीएम महबूबा मुफ्ती हालात पर काबू नहीं कर सकती हैं. क्योंकि, राज्य के पास संसाधन कम हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि जम्मू कश्मीर के कई जिलों में पिछले एक महिने से हिंसा हो रही है. महीने भर से श्रीनगर सहित कई जिलों में कर्फ्यू तो लगा है. हिंसा में 58 लोगों की जान तक जा चुकी है. 3300 पुलिस वाले सहित 8000 लोग जख्मी हैं.