वाशिंगटन. अमेरिका के मशहूर एक्टर और प्रोड्यूसर लियोनार्डो डिकैप्रियो ने हिन्दू संगठनों के साथ-साथ बीफ पर बैन लगाने की बात कही है. डिकैप्रियो कई सालों से पर्यावरण के लिए काम के लिए काम कर रहे हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
डिकैप्रियो ने Cowspiracy जैसी डॉक्यूमेंट्री बनाने में भी सहयोग किया था. इस डॉक्यूमेंट्री में बताया गया है कि पशु हमारे पर्यावरण के लिए कितने जरूरी हैं. वहीं अब डिकैप्रियो राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के साथ-साथ बीफ पर बैन लगाने का समर्थन कर रहे हैं.
 
Celebmaestro.com में छपी खबर के मुताबिक एक ओर जहां कई हिन्दू संगठनों ने गाय का पवित्र बताते हुए बीफ बैन की मांग की है, वहीं लियोनार्डो डिकैप्रियो, सर रिचर्ड ब्रांसॉन और सर डेविड एटनबरो जैसे समाजिक कार्यकर्ताओं ने कहा है कि मांस उद्योग से पर्यावरण पर विनाशकारी प्रभाव पड़ता है इसलिए इनपर पूरी तरह से बैन होना चाहिए.
 
एक आंकड़े के मुताबिक अमेरिका अपने देश के पशुओं के लिए कितना गंभीर है, इसका प्रमाण इस बात से मिलता है कि वहां के 260 मिलियन एकड़ जमीन को पशुओं के चारे के लिए तैयार किया गया है. अमेरिका के 70 फीसदी खेत में केवल जानवरों का चारा उगाया जाता है.
 
स्मिथसोनियन इंस्टीट्यूशन के वैज्ञानिकों के मुताबिक हर मिनट सात फुटबॉल मैदान के बराबर खेतों को पशुओं के चारे के लिए तैयार किया जा रहा है. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि 0.453592 किलोग्राम मीट को तैयार करने में 2400 गैलन पानी की जरूरत होती है, जबकि इतना ही गेहूं तैयार करने में मात्र 24 गैलन पानी की जरूरत होती है.
 
बता दें कि लियोनार्डो डिकैप्रियो, सर रिचर्ड ब्रांसॉन और सर डेविड एटनबरो हमेशा से आरएसएस की बैठकों और कार्यक्रमों में शामिल होते रहे हैं.