हरिद्वार. योग गुरू बाबा रामदेव ने कहा कि गौ-रक्षा संवेदनशील मुद्दा है. जो लोग गौ-रक्षा का काम कर रहे हैं वो बड़ा काम तो है लेकिन गौ-रक्षा के साथ मानव रक्षा भी होनी चाहिए. बाबा रामदेव ने ये बात हरिद्वार के एक कार्यक्रम के दौरान कही. उन्होंने कहा कि गौ-रक्षा को लेकर जो हो रहा है वह काफी निंदनीय है. हम लोगों के गौ-रक्षा के साथ-साथ मानव रक्षा भी करनी चाहिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
PM के बयान पर VHP नाराज
फर्जी गौरक्षक और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तल्ख बयान के बाद विश्व हिंदू परिषद और धर्म गुरू नाराज हैं. सुमेरू पीठ के शंकराचार्य स्वामी नरेंद्र देव ने मोदी पर निशाना साधा और कहा कि अब दिल्ली के भूचड़ खाने पीएम को नहीं दिख रहे. उन्होंने कहा कि इस देश में दुकानें नहीं चल रहीं, दिल्ली के फाइव स्टार होटलों में गौमांस की बिक्री हो रही है ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को नहीं दिख रहा है. दिल्ली में हजारों की संख्या में गायें काटी जा रही हैं, ये पीएम को नहीं दिख रहा.
 
 
 
वहीं कालकापीठ के महंत सुरेंद्र नाथ ने कहा कि पीएम के बयान से गौ-तस्करों का हौंसला बढ़ेगा. उधर स्वामी चक्रपाणी ने कहा कि पीएम को गौरक्षक को छोड़कर जम्मू-कश्मीर के हालत पर गुस्सा दिखाना चाहिए. इस पूरे मामले में वीएचपी ने साधू-संतों के साथ पीएम के दिए बयान पर सड़क पर उतरने का फैसला किया है.
 
Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
 
मोदी ने शनिवार को दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में आयोजित टाउन हॉल में जनता के सवालों का जवाब देते हुए पहली बार गौ रक्षा के मुद्दे पर टिपण्णी की थी. उन्होंने कहा था कि गौ-रक्षा के नाम पर कुछ लोगों ने दुकानें खोल रखी हैं. इन लोगों का काम गौ रक्षा करना नहीं है. उन्होंने आगे कहा कि 70 से 80% गौरक्षक गोरखधंधा करते हैं. प्रधानमंत्री में टाउन हॉल में जनता से अपील करते हुए कहा कि अगर वाकई में कोई गौरक्षा करना चाहता है तो गाय को प्लास्टिक ना खाने दें.