नई दिल्ली. हिंदू महासभा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के उस बयान से काफी नाराज है जिसमें उन्होंने कहा था कि गौ रक्षा के नाम पर कुछ लोगों ने दुकानें खोल रखी हैं. इस पर हिंदू महासभा ने विरोध दर्ज कराते हुए कहा है कि अगर गौ रक्षा की कुछ घटनाएं होती हैं तो मारने वालों को जेल भेजा जाता है, लेकिन 70 से 80 प्रतिशत लोगों को अपराधी कहना सही नहीं है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
अखिल भारतीय हिंदू महासभा के राष्ट्रीय महासचिव मुन्ना कुमार शर्मा ने कहा है कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान मोदी ने वादा किया था कि वे गौहत्या पर रोक लगाएंगे, लेकिन गौहत्या कम होने के बजाए और भी बढ़ गई हैं. 
 
 
Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि मोदी ने शनिवार को दिल्ली के इंदिरा गांधी स्टेडियम में आयोजित टाउन हॉल में जनता के सवालों का जवाब देते हुए पहली बार गौ रक्षा के मुद्दे पर टिपण्णी की थी. उन्होंने कहा था कि गौ रक्षा के नाम पर कुछ लोगों ने दुकानें खोल रखी हैं. इन लोगों का काम गौ रक्षा करना नहीं है.