नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इंदिरा गांधी स्टेडियम में 2000 लोगों के टाउन हॉल को संबोधित किया.  सरकार और जनता के बीच के फांसले को  कम करने के लिए शुरू किया गयी Mygov.in की आज दूसरी साल गिरह के मौके पर प्रधानमंत्री ने लोगों के सवालों के जवाब भी दिए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
यह पहला मौका था जब पीएम जनता से सीधा संवाद कर रहे थे.  इस मौके पर पीएम मोदी ने गुड गवर्नेंस, देश की अर्थव्यवस्था, किसानों और गौरक्षा जैसे ज्वलन्त मुद्दे पर खुल कर बात की.
 
कार्यक्रम की शुरुआत में गुड गवर्नेंस पर पूछे गए पहले सवाल के जवाब में पीएम ने जनभागीदारी पर ख़ास जोर दिया. यहां उन्होंने कहा कि लोकतंत्र का मतलब एक बार वोट देकर अपनी जिम्मेदारी किसी और पर डाल देना नहीं होता. हमे जनभागीदारी वाले लोकतंत्र की जरुरत है.
 
जनभागीदारी का उदाहरण देते हुए उन्होंने अपने स्वच्छ भारत अभियान की चर्चा की. आखिर में गुड़ गवर्नेंस का मतलब समझाते हुए उन्होंने कहा इसका मतलब है कि योजनाओ को लाभ हर किसी को मेल और योजना सिर्फ योजना ही बन कर ना रह जाए. 
 
 
इसके बाद पीएम से अर्थव्यवस्था को लेकर सवाल पूछे गए.  मोदी ने इन सवालों के जवाब में कहा कि मंदी के हालात में 7.5 की विकास दर पाना बहुत बड़ी बात है. इसके अलावा उन्होंने विकास के साथ साथ सुशासन की जरुरत पर भी जोर दिया. प्रधानमंत्री के अनुसार 30 साल तक अगर भारत 8% की विकास दर बरकरार रख पाता है तो दुनिया हमारे कदमों में होगी.
 
उन्होंने अर्थव्यवस्था में सुधार के लिए पर्यटन पर ध्यान देने की बात भी कही. इसके बाद उन्होंने कहा कि स्वच्छता अभियान बीमारी के खिलाफ एक लड़ाई है. उन्होंने कहा कि  ऐसे कई लोग हैं जो दूसरों को राय देते हैं लेकिन खुद उस पर अमल नहीं करते. 
 
Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
 
पीएम ने लोगों को अपने खान-पान, योग पर ध्यान देने को कहा. इसके अलावा  भारत में बढ़ रही किडनी की बीमारियों पर चिंता जताई. स्मार्ट सिटी पर पीएम ने कहा कि हमारी कोशिश है गांवों तक शहरों वाली सुविधा पहुँचाने की. विदेश नीति पर पीएम ने कहा कि इंडिया फर्स्ट यही हमारी विदेश नीति है.