श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा एनकाउंटर में आतंकी सगंठन हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर बुरहान वानी के मारे जाने के बाद कश्मीर में कर्फ्यू 29वें दिन भी जारी है. बुराहान के मारे जाने के बाद घाटी के कई हिस्सों में कर्फ्यू जारी रहने के बावजूद शनिवार को अनंतनाग और शोपियां जिलों में प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच काफी झड़प हुई. इस झड़प में तीन लोगों की मौत हो गई.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
इस विरोध प्रदर्शन में सुरक्षाबलों और प्रदर्शनकारियों के बीच झड़प में 50 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है और 6000 के करीब लोग घायल हो चुके हैं जिनमें 100 पुलिसकर्मी हैं. 10 जिलों में अभी भी कर्फ्यू जारी है. घाटी में तनाव के माहौल को देखते हुए ट्रेन और मोबाइल इंटरनेट सेवाएं भी ऐहतियातन बंद कर दी गई हैं ताकि किसी तरह की कोई अफवाह न फैल सके. ट्रेनें अगली सूचना तक बंद रहेंगी.
 
 
वहीं जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला घाटी के हालात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्पी पर निशाना साधा. उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह दिल तोड़ने वाली एवं चिंताजनक हैं.. केंद्र (माननीय प्रधानमंत्री पढ़ें) यह संकट को लेकर कब जागेगा. दुर्भाग्यपूर्ण मौतें, अनगिनत लोग घायल और केंद्र माननीय उच्चतम न्यायलय को बताता है कि चीजें सुधर रही हैं.. सच में यह किसी हद की कल्पना है.. मैं बीजेपी-पीडीपी को छोड़कर घाटी में किसी ऐसे व्यक्ति से नहीं मिला जो इस बात से सहमत हो.
 
 
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए एहतियाती उपाय के रूप में श्रीनगर के नौहट्टा, खनयार, रैनावारी, सफाकादल, महराजगंज और बटमालू के छह थाना इलाकों में कर्फ्यू जारी है. उन्होंने बताया कि बड़गाम जिले के चार शहरों चडोरा, खानसाहिब, मगम और बडगाम और बारामूला जिले के अनंतनाग शहर और खानपोरा इलाके में भी कर्फ्यू जारी है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
हड़ताल के अलगाववादियों के आह्वान और कर्फ्यू जैसे प्रतिबंधों के कारण कश्मीर में जनजीवन प्रभावित हुआ है. इस प्रतिबंध से स्कूल, कॉलेज, व्यापारिक प्रतिष्ठान, पेट्रोल पंप, बैंक और निजी कार्यालय बंद हैं जबकि सार्वजनिक परिवहन सड़कों पर नजर नहीं आ रहे. हुर्रियत कांफ्रेंस के दोनों धड़ों और जेकेएलएफ ने हड़ताल का आह्वान किया है. अलगाववादी समूहों ने 12 अगस्त तक हड़ताल की अवधि बढ़ा दी है.