नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आवास के बाहर ऑल इंडिया तज़ीम उलेमा-ए-इस्लान से जुड़े लोगों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शन करने वाले लोगों का कहना है कि आम आदमी पार्टी के विधायक ने धर्मग्रंथ की बेअदबी की है. प्रदर्शनकारियों ने आप पर धार्मिक भावनाओं को ठोस पहुंचाने का आरोप लगाया है. बता दें कि महरौली से विधायक नरेश पर धर्मग्रंथ के अपमान करने का आरोप है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
धर्मग्रंथ की बेअदबी के मामले में महरौली से आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक नरेश यादव को पंजाब के संगरूर कोर्ट से जमानत मिल गई है. रिपोर्ट्स के मुताबिक नरेश पर सांप्रदायिकता के नाम पर दंगा भड़काने का आरोप है. आप नेताओं का कहना है कि नरेश यादव पूरी तरह पाक साबित होंगे.
 
24 जून की खन्ना रोड पर स्थित कब्रिस्तान के पास देर रात गाड़ी में सवार लोग धर्मग्रंथ के पन्नों को फेंकते हुए चले गए थे. वहां गुस्साए लोगों ने बस स्टैंड में खड़ी दो बसों को आगे के हवाले कर दिया. वहीं उग्र भीड़ ने अकाली विधायक फरजाना आलम के घर पर भी हमला कर दिया था. पुलिस ने इस मामले में तीन मामले दर्ज किए थे.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
दो मामलों में पुलिस ने 4 सौ लोगों पर मामला दर्ज किया था. पुलिस ने बेअदबी मामले में मास्टरमाइंड करोड़ पति विजय कुमार सहित नंद किशोर उर्फ गोल्डी और उसके बेटे गौरव को गिरफ्तार किया था. जिसके बाद पुलिस पूछताछ में विजय कुमार ने आप विधायक नरेश यादव का नाम लिया था. पंजाब पुलिस ने यादव 24 जुलाई को दिल्ली से गिरफ्तार किया था.