नई दिल्ली. पाकिस्तान की हरकत से नाराज होकर भारत लौटे गृहमंत्री राजनाथ सिंह शुक्रवार को संसद में अपने दौरे पर बयान देंगे. पाकिस्तान ने सार्क समिट में राजनाथ के भाषण का लाइव कवरेज रोक दिया था. इसके बाद राजनाथ ने मेजबान पाकिस्तान के गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान के लंच का बहिष्कार कर दिया और तय समय से पहले ही दिल्ली लौट आए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि पाकिस्तान में गुरुवार को सार्क देशों के गृहमंत्री सम्मेलन में राजनाथ सिंह ने इस्लामाबाद में खड़े होकर पाकिस्तान को अपने भाषणों से नंगा कर दिया. इससे बौखलाई पाकिस्तानी मीडिया ने राजनाथ के भाषण का कवरेज नहीं किया और पाकिस्तान सरकार ने विदेशी मीडिया को राजनाथ के भाषण के दौरान अंदर नहीं आने दिया.
 
 
क्या कहा राजनाथ सिंह ने ?
इस्लामाबाद में अपने भाषण के दौरान राजनाथ सिंह ने आतंकवाद पर कड़ा रुख अपनाया जो पाकिस्तान को रास नहीं आया. उन्होंने कहा, “किसी भी देश का आतंकी किसी भी कीमत पर शहीद नहीं हो सकता. हमें आतंकवाद के खिलाफ एकजुट होना पड़ेगा. हमें आतंकवाद ही नहीं बल्कि उन देशों के खिलाफ भी कठोर कदम उठाने की जरूरत है जो आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं. सार्क क्षेत्र में आतंकवाद सबसे बड़ा खतरा है.”
 
 
उन्होंने आगे कहा कि मुझे खुशी है कि सार्क के सभी सदस्य हमारे प्रस्ताव को 22-23 सितंबर 2016 को दिल्ली में आतंकवाद पर नकेल कसने को लेकर होने वाली बैठक में सपोर्ट करेंगे. साथ ही हमें उम्मीद है कि हम प्रख्यात विशेषज्ञों की होने वाली इस उच्च स्तरीय बैठक में अपने उद्देश्यों को प्राप्त करेंगे.
 
Stay Connected with InKhabar | Hindi News Android App | Facebook | Twitter
 
पाकिस्तान ने दी सफाई
पाकिस्तान गृह मंत्री चौधरी निसार अली खान ने कहा कि राजनाथ सिंह ने अपने भाषण में किसी देश का नाम नहीं लिया. चौधरी निसार ने कहा, ‘आमतौर पर बैठक का माहौल अच्छा रहा. भारत की ओर से पाकिस्तान पर दबाव बनाने की कोशिश की गई.’