लखनऊ. पूर्व बीजेपी नेता दयाशंकर सिंह की पत्नी स्वाति सिंह ने अपने परिवार के खिलाफ बीएसपी नेताओं की टिप्पणी को लेकर अब तक उनकी गिरफ्तारी न होने पर यूपी पूलिस की कार्यशैली पर सवाल उठाया है. स्वाति सिंह ने आरोप लगाया कि यूपी पुलिस बीएसपी महासचिव नसीमुद्दीन सिद्दीकी को बचा रही है. स्वाति ने भी नसीमुद्दीन सिद्दीकी के खिलाफ पॉक्सो एक्ट लगाने की मांग की थी.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
स्वाति सिंह ने पुलिस पर सिद्दीकी को बचाने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने पुलिस को जो दो सीडी दी हैं, उनमें से एक में नसीमुद्दीन सिद्दीकी तीन-चार बीएसपी कार्यक्रताओं के साथ खड़े होकर माइक में यह बोलते साफ दिखाई रहे हैं कि दयाशंकर अपनी बहन बेटी को पेश करो. इसके बावजूद उन पर पॉक्सो कानून की तामील नहीं की जा रही है.
 
 
स्वाति ने कहा कि उनके पति दयाशंकर सिंह पर मुकदमा दर्ज होते हुए पुलिस ने उनकी तलाश में छापेमारी शुरू कर दी थी लेकिन अब तक बीएसपी नेताओं पर पॉक्सो कानून क्यों नहीं लगाया गया है, उनके पीछे पुलिस और एसटीएफ क्यों नहीं लग रही है. उन पर कार्रवाई होगी भी या नहीं. स्वाति ने कहा कि ऐसा ना करने से यूपी पुलिस को क्या फायदा हो रहा है या फिर क्या वे मायावती से डर रहे हैं? 
 
 
बता दें कि मॉनसून सत्र के दौरान दयाशंकर ने बसपा सुप्रीमो मायावती की तुलना वेश्या से करते हुए कहा था कि वे सुबह एक करोड़ में जिसे टिकट देती हैं उसका टिकट शाम में 2 करोड़ देने वाला आदमी मिलने पर काट देती हैं. जिसके बाद उन्हें 6 साल के लिए पार्टी से निकाल दिया गया.
 
 
यूपी STF ने दयाशंकर सिंह को बिहार के बक्सर से गिरफ्तार कर लिया है. दयाशंकर सिंह को बक्सर के शुगर मील कॉलोनी से गिरफ्तार किया गया था. वह अपने एक परिजन के यहां छुपे हुए थे.