नयी दिल्ली. लंबे समय से अटके पड़े जीएसटी बिल को आज राज्यसभा में पेश कर दिया गया. इस समय उच्च सदन में इस बिल पर चर्चा चल रही है. सदन में इस बिल पर करीब पांच घंटे चर्चा होगी. इस बिल का महत्व बताते हुए केंद्रीय वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा है कि इससे बड़ा बदलाव आएगा. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
उन्होंने इस बारे में बताया कि यह अब तक का सबसे बड़ा आर्थिक सुधार है. इससे देश भर में एक समान कर प्रणाली काम करने लगेगी. वित्तमंत्री ने जीएसटी बिल पर आगे कहा कि इसका सबसे बड़ा लाभ यह होगा कि यह भारत को एक समान बाजार में बदल देगा. 
 
यह बिल 6 संशोधनों के साथ राज्यसभा में पेश किया गया है. यह संशोधन सभी दलों को जीएसटी बिल पास करने के लिए मनाने के लिए हुए. इन संशोधनों के  तहत 1 फीसदी इंटरस्टेट ट्रांजेक्शन टैक्स हटाया गया है. इसके अलावा इन बदलावों के अनुसार अब राज्यों को 5 साल तक 100 फीसदी नुकसान की भरपाई की जाएगी. इससे पहले 3 साल तक 100 फीसदी, चौथे साल में 75 फीसदी और पांचवे साल में 50 फीसदी भरपाई का प्रावधान था.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
जीएसटी बिल पर कांग्रेस और गैर कांग्रेसी विपक्ष ने अपनी सहमति दी है.  राज्यसभा में पास होने के बाद इसे फिर से लोकसभा में भेजा जाएगा.