नई दिल्ली. राज्यसभा में आज विपक्षी सदस्यों ने उत्तर प्रदेश में बलात्कार की घटनाओं, बुलंदशहर जिले में एक मां और बेटी के साथ हुए सामूहिक बलात्कार का मुद्दा उठाया और सरकार से दोषियों के खिलाफ कठोर कदम उठाने की मांग की. बसपा और कांग्रेस सदस्यों द्वारा यह मुद्दा उठाए जाने और राज्य सरकार पर कानून व्यवस्था की ओर समुचित ध्यान न देने का आरोप लगाए जाने पर समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने कड़ी प्रतिक्रिया जाहिर की.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बैठक शुरू होने पर बसपा प्रमुख मायावती ने यह मुद्दा उठाते हुए कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों में महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं हो रही हैं और खासकर उत्तर प्रदेश में तो आए दिन इस तरह की घटनाएं हो रही हैं. उन्होंने कहा कि हाल ही में बुलंदशहर में मां और बेटी के साथ सामूहिक बलात्कार किया गया. उससे पहले शामली से एक छात्रा का अपहरण किया गया और इस घटना से पहले एक शिक्षिका को दिन दहाड़े उठा लिया गया.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
मायावती ने राज्य में कानून व्यवस्था ठप हो जाने का आरोप लगाते हुए कहा कि असामाजिक तत्वों के हौसले बुलंद हैं और पुलिस प्रशासन अपराधों पर अंकुश लगाने में नाकाम रहा है।