नई दिल्ली. जेडीयू के नेता शरद यादव ने स्मृति ईरानी पर दिए आपत्तिजनक ब्यान पर आज सदन के भीतर खेद व्यक्त कर दिया. शरद ने अफसोस जाहिर किया और कहा कि उनके बयान को गलत अर्थों में लिया गया. यह मामला राज्यसभा में शून्यकाल में उठा जब सदन के नेता अरुण जेटली ने इस मामले पर शरद यादव से स्थिति साफ करने को कहा.

शरद यादव ने कहा, ‘मुझे बड़ा अफसोस है, मैं खुद गोंडवाना का रहने वाला हूं. जहां मातृ संस्कृति है. मैं दो मंत्रियों निर्मला सीतारमण और स्मृति जी का बड़ा सम्मान करता हूं. यहां तक कि जब स्मृति ईरानी की डिग्री का मामला उठा तो मैंने ही सबसे पहले उनके बचाव में बयान दिया था. इसके बाद सरकार ने उनके खेद को स्वीकार कर लिया.