बुलंदशहर. बुलंदशहर मां-बेटी गैंगरेप कांड में पीड़ित परिवार ने अपनी आपबीती सुनाई है. गैंगरेप की शिकार हुई नाबालिग लड़की के पिता ने कहा है कि अगर तीन महीनों के अंदर आरोपियों को सजा नहीं मिली तो पूरा परिवार सामूहिक सुसाइड कर लेगा. पीड़ित परिवार ने इंडिया न्यूज़ को अपनी आपबीती सुनाई. 
 
पीड़ित लड़की के पिता ने कहा, ‘तीन महीनों में अगर आरोपियों को सजा नहीं दी जाएगी तो हम लोग सुसाइड कर लेंगे. क्योंकि उसके अलावा और कोई चारा नहीं है.’ न्याय की गुहार लगाते हुए लड़की के पिता ने कहा है कि उन्हें न तो पैसा चाहिए न कुछ और, उन्हें केवल न्याय चाहिए.
 
बेटी से कहा मान जाओ, वर्ना पापा को गोली मार देंगे
 
पीड़ित लड़की  के पिता ने बताया है कि उनकी लड़की कराटे-मार्शल आर्ट जानती थी. उसने बदमाशों से काफी देर तक संघर्ष किया, लेकिन जब बदमाशों ने कहा कि शांत रहो नहीं तो पापा को गोली मार देंगे, जिसके बाद उसने संघर्ष करना छोड़ दिया. 
 
20 मिनट तक 100 नंबर पर नहीं मिला फोन
 
पीड़ित लड़की के पिता ने बताया कि घटना के बाद वह 100 नंबर पर लगातार 20 मिनट तक फोन करने की कोशिश करते रहे, लेकिन फोन नहीं मिला. 20 मिनट तक नंबर बिजी आ रहा था. उन्होंने कहा, ‘4 बजकर 15-16 मिनट पर कॉल किया था, 20 मिनट तक 100 नंबर पर कॉल किया, लेकिन पुलिस ने कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया.’
 
 
पीड़ित परिवार ने इंडिया न्यूज़ को बताया कि कैसे धोखे से बदमाशों ने उन्हें बंधक बनाया था और वारदात को अंजाम दिया था. परिवार ने बताया कि पहले गाड़ी में कुछ लगने की आवाज आई, उसके बाद यह लगा कि गाड़ी से कुछ खुल गया. फिर जब यह पता करना चाहा कि हुआ क्या है, उतने में बदमाशों ने परिवार के लोगों को पकड़ लिया. 
 
शर्मिंदगी की वजह से घर नहीं जा पा रहे
 
पीड़ित परिवार का कहना है कि शर्मिंदगी की वजह से घर भी नहीं जा पा रहे हैं. पीड़ित लड़की के पिता ने कहा है कि करीबी दोस्तों ने भी घर पर रखने से मना कर दिया है. 
 
न्यायिक हिरासत में तीन आरोपी
 
सोमवार को तीन आरोपियों को 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. तीनों पर NSA-POCSO के तहत मामला दर्ज किया गया है. वहीं बाकी आरोपियों की तलाश में पुलिस की 15 टीमें जुटी हुई हैं. गृह मंत्रालय ने मामले में पुलिस की लापरवाही और कंट्रोल रुम में जिस तरह से लापरवाही बरती गई है उस पर अखिलेश सरकार से रिपोर्ट मांगी है. 
 
क्या हुआ था ?
 
बता दें कि शुक्रवार की रात को यह परिवार नोएडा से उत्तरप्रदेश के शाहजहांपुर जा रहा था. बुलंदशहर में घुसते ही, उनकी कार एक छोटे एक्सीडेंट का शिकार हो गई, जैसे ही कार रुकी पांच आदमियों के झुंड ने परिवार को पास के खेत में घसीटकर उनके साथ लूटपाट और बलात्कार किया. बुलंदशहर के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आरोपियों ने परिवार के पुरुषों को रस्सी से बांध दिया और महिला और उसकी बेटी के साथ बलात्कार किया.
 
अगली सुबह परिवार के एक सदस्य ने किसी तरह रस्सी खोली और फिर उसने  मामले की रिपोर्ट पुलिस थाने में की. घटनास्थल से महज 100 मीटर की दूरी पर एक पुलिस पोस्ट भी है.