नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को कैबिनेट की बैठक बुलाई है. इस बैठक में जीएसटी बिल में कुछ संशोधन को हरी झंडी मिल सकती है. बता दें कांग्रेस ने इस बिल के कई मुद्दों पर आपत्ति जताई थी. जिससे बिल को राज्यसभा में लाने में देरी हो रही है. इस हफ्ते जीसएटी बिल राज्यसभा में पेश हो सकता है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि जीएसटी के लागू के साथ ही अधिकांश अप्रत्यक्ष कर खत्म हो जाएंगे. मुझे पूरा विश्वास है कि हम इन संशोधन को करने में सफल होंगे और जीएसटी को संसद की मंजूरी मिल जाएगी. 
 
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने जीएसटी के मुद्दे पर कांग्रेस को मनाने में खूब मेहनत की है. जेटली ने इस दौरान राज्य सरकारों और क्षेत्रीय पार्टियों के साथ भी बातचीत की  और उम्मीद की जा रही है कि सरकार को जीएसटी पर उनका समर्थन मिल जाएगा. कांग्रेस अब तक बिल के कुछ प्रावधानों का विरोध कर रही थी लेकिन अब कांग्रेस ने रुख में नर्मी दिखानी शुरू कर दी है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बीजेपी गठबंधन के पास राज्यसभा में बहुमत नहीं है, जिसके कारण उसे जीएसटी को पारित कराने के लिए विपक्ष की समर्थन की जरूरत है. जीएसटी विधेयक लोकसभा में मई 2015 में ही पारित हो गया था.