नई दिल्ली. भारी बारिश और बाढ़ से हिन्दुस्तान के 10 राज्यों में तबाही मची है. आशियाने जलसमाधि ले रहे हैं तो इंसान सैलाब में बहते जा रहे हैं. खेत-खलिहान सब बाढ़ में तबाह हो रहे हैं. यूपी से लेकर बिहार और असम तक सौ से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
करीब तीन करोड़ लोगों की जिंदगी पानी में कैद हैं. सैलाब में कहीं तबाही तैर रही है तो कहीं दर्द का दरिया बह रहा है. मध्य प्रदेश में तो देखते ही देखते दो युवक सैलाब में बह गए. हालांकि दोनों की किस्मत अच्छी थी कि वहां कुछ और लोग मौजूद थे. लोगों ने फौरन नदी में छलांग लगाई और उन्हें बाहर निकाला.
 
बैंगलुरू में भी आसमान से तबाही बरसी है. चार दिनों की बारिश से शहर पस्त हो गया. कई इलाकों में पांच फीट तक पानी भर गया. सड़कों पर नावें चलने लगीं. गलियों में लोग मछलियां पकड़ने लगे हैं. बारिश का पानी बेडरूम तक घुस चुका है. पलंग में पानी भरा है. आलमारियां, सोफे और फ्रिज सब पानी-पानी हो गए.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बिहार में बाढ़ से 10 जिले के 22 लाख लोग बेहाल हैं. 5 हजार मकान ढह चुके हैं. 26 लोगों की मौत हो चुकी है. यहां नेपाल से पानी छोड़े जाने के बाद कई नदियां तबाही मचा रही हैं. दरभंगा में कोशी, कमला, खिरोई, अधवाड़ा और बागमती नदी उफान पर हैं. पांच-पांच नदियों की तबाही से 70 हजार लोग त्रस्त हो रहे हैं.