नई दिल्ली. ‘पीपली लाइव’ के सह-निर्देशक महमूद फारुकी को दिल्ली की साकेत कोर्ट ने दुष्कर्म का दोषी करार दिया है. इस मामले में कोर्ट 2 अगस्त को सजा का ऐलान करेगा. बता दें कि अमेरिका के कोलंबिया विवि की छात्रा ने फारूकी पर रिसर्च में मदद के बहाने दुष्कर्म का आरोप लगाया था.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बताया जा रहा है कि घटना 28 मार्च 2015 की है. पीडिता कोलंबिया यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर रही थी और वह इसी सिलसिले में रिसर्च करने भारत आई थी. वो रिसर्च के लिए यहां गोरखपुर युनिवर्सिटी से जुड़ी थी. पीडित छात्रा अपनी एक फ्रेंड के जरिये फारुकी के संपर्क में आई थी. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
वह रिसर्च में मदद के लिए फारुकी के घर गई थी, जहां फारुकी ने उनका यौन उत्पीड़न किया. पीडिता ने पुलिस का यह बताया था जब यह घटना घटी तो वह नशे में थे. इस मामले में मुकदमा पिछले साल 9 सितंबर को शुरू हुई थी जब पीडिता ने अदालत में पेश होकर अपना बयान दर्ज कराया था. वहीं फारूकी ने ऐसा दावा किया था उन्हें गलत तरीके से फंसाया गया है.