नई दिल्ली. पठानकोट एयरबेस हमले के मामले में अमेरिका ने भारत को अहम सबूत सौंपे हैं. अमेरिका ने भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को एक हजार पन्नों का डॉजियर सौंपा है, जिसमें इस बात का खुलासा किया गया है कि पठानकोट हमले की साजिश पाकिस्तान में हुई थी. डॉजियार में जैश-ए-मोहम्मद के संचालक काशिफ जान और 4 फिदायीन के बीच हुई बातचीत दर्ज है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के मुताबिक चारों फिदायनी अबू बकर (गुजरांवाला), अब्दुल कयूम (सिंध), नासिर हुसैन (पंजाब) और उमर फारूक करीब 80 घंटे तक पाकिस्तान में बैठे अपने संचालक से कॉन्टैक्ट में रहे थे. 
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
बता दें कि इस साल 7 जनवरी में पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमला हुआ था, जिसमें 7 जवान शहीद हुए थे. इस हमले में जैश-ए-मोहम्मद प्रमुख मसूद अजहर का हाथ बताया जाता रहा है.