नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के सरकारी स्कूलों की गुणवत्ता सुधारने की दिशा में दिल्ली सरकार ने एक अहम कदम उठाया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सरकारी स्कूलों में पैरेंट्स टीचर्स मीटिंग की शुरुआत की है. 30 जुलाई यानी शनिवार को पहली बार दिल्ली के लगभग एक हजार सरकारी स्कूलों में यह मीटिंग हो रही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राजधानी दिल्ली के उपमुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके कहा है कि सरकारी स्कूलों में पढ़ाई का स्तर बेहतर बनाने के लिए यह कदम उठाया जा रहा है. पहली पैरेंट्स-टीचर्स मीटिंग 30 जुलाई को दिल्ली के एक हजार सरकारी स्कूलों में होगी.
 
उन्होंने कहा कि इससे पहले कभी भी सरकारी स्कूलों में पैरेंट्स टीचर्स मीटिंग नहीं हुई थी. जितने भी काम हुए थे सिर्फ कागजों पर ही हुए थे, लेकिन हम चाहते हैं कि सरकारी स्कूल भी प्राइवेट की तरह प्रगति करें.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
सिसोदिया ने बताया है कि इस मीटिंग के लिए अलग से बजट भी तैयार किया गया है. सभी पैरेंट्स को इनवीटेशन कार्ड भी भेजे गए हैं. इसके साथ ही स्वागत के लिए खास व्यवस्था करने का भी आदेश दिया गया है.