नई दिल्ली. देशभर के सरकारी बैंको में शुक्रवार को कामकाज बंद रहेगा, करीब 10 लाख बैंक कर्मचारी शुक्रवार को हड़ताल पर हैं. सहायक बैंकों के भारतीय स्टेट बैंक (SBI) में विलय और सरकार की ओर से घोषित बैंकिंग सुधारों के विरोध में इस हड़ताल का आह्वान किया गया है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
जुलाई महीने की शुरुआत में कई बैंक यूनियनों ने दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद अपनी 12 और 13 जुलाई को होने जा रही हड़ताल को टाल दिया था. बैंकिंग सेक्टर की यूनियनें पांच सरकारी बैंकों के SBI में एकीकरण और IDBI बैंक के निजीकरण के खिलाफ हड़ताल कर रही हैं. 
 
बैंक यूनियन सरकार स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर (SBBJ), स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर (SBT), स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (SBP), स्टेट बैंक ऑफ मैसूर (SBM) और स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद (SBH) के SBI में एकीकरण के खिलाफ हैं.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
हड़ताल की अपील में शामिल नेशनल आर्गनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स के उपध्यक्ष अश्वनी राणा ने कहा कि सरकार इन बैंकों की 100 फीसदी मालिक नहीं है. उन्होंने कहा कि इन बैंको में लोगों के शेयर भी हैं इसलिए सरकार कोई भी निर्णय अपने मन से नहीं कर सकती. हमारी मांग है कि सरकार को सभी पक्षों से बात करनी चाहिए और उसके बाद ही कोई निर्णय लेना चहिए.